किसान की खुदकुशी पर कृषि मंत्री का अजीबोगरीब बयान, बोले- कौन नहीं है कर्जदार यहां

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Deepak Dhankar, Yuva Haryana
Rohtak, 01 Dec, 2018
प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने झज्जर के खुड्डन गांव के किसान की खुदकुशी पर अजब बयान दिया है। खुदकुशी का जिक्र आते ही बाबा फरीद का एक दोहा सुना दिया। बोले कि उठ फरीदा जिक्र कर। फिकर करेगा आप। जिसका अर्थ है कि हे मनुष्य, तू फिक्र मत किया कर। कुछ करना है तो सद्गुरु का जिक्र सौ बार कर, यह तेरा काम है। जिक्र करना यानि ईश्वर का सिमरण करना, भजन करना। तेरी फिक्र करना सद्गुरु का काम है। जब तू उसे याद करेगा तो वो मालिक भी तेरी फिक्र या चिंता करेगा। 
ओमप्रकाश धनखड़ शुक्रवार शाम को रोहतक में भाजपा कार्यालय में एक बैठक में भाग लेने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान पत्रकारों ने खुड्डन के किसान की खुदकुशी से जुड़ा सवाल उनसे किया। दरअसल किसान प्रकाश ने खेत में बरसाती पानी की निकासी न होने पर खुदकुशी कर ली थी। बरसाती पानी की वजह से उनकी 5 एकड़ धान की फसल खराब हो गई थी। खुड्डन गांव धनखड़ के विधानसभा क्षेत्र में आता है।
 
इसी पर कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार तो बहुत संवेदनशील है। लेकिन मन खोलना चाहिए था। अपने गमों को मन में नहीं रखना चाहिए, घरवालों व पड़ोसी को बताना चाहिए था। पत्नी व बच्चों को बताना चाहिए था। किसानों के कर्जदार होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि कर्जदार कौन नहीं है। क्या नेताओं पर कर्ज नहीं है, क्या पत्रकारों पर कर्ज नहीं है। मौजूदा समय में आर्थिक व्यवस्था ही कर्ज की है। लोन इस जमाने की जरूरत है। ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि आजादी के बाद भाजपा सरकार ऐसी है, जिसने किसानों का भला किया है। किसान की फसल का लाभकारी मूल्य दिया है। 
ओमप्रकाश धनखड़ ने नगर निगम चुनाव में कांग्रेस के सिंबल पर चुनाव न लड़ने पर भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने निगम चुनाव से पलायन कर लिया है। कांग्रेस सिंबल पर चुनाव लड़ने की हिम्मत ही नहीं जुटा पाई। उन्होंने 5 निगम चुनावों में भाजपा की जीत का दावा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *