हमारा संघर्ष नहीं जाएगा बेकार, सरकार इस आंदोलन के आगे टेकेगी घुटने- अभय

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा
Umang Sheoran, Yuva Haryana
Panchkula, 05 June, 2018
एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल का निर्माण और प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए हो रहे जलयुद्ध संघर्ष में हिस्सा लेने वाले लोगों का नाम प्रदेश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। यह बात नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने पंचकुला में जेल भरो आंदोलन के दौरान कही। उन्होंने प्रदेश की जनता को आश्वत करते हुए कहा कि उनका संघर्ष व्यर्थ नहीं जाएगा, सरकार को इस आंदोलन के आगे घुटने टेक कर नहर का निर्माण करवाना ही पड़ेगा।
इनेलो नेता ने भाजपा सरकार पर किसानों का शोषण करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कर्ज की मार झेल रहे किसानों के ऋण माफ करना तो दूर खट्टर सरकार ने 500-500 रुपए प्रति एकड़ फसल बीमा के नाम पर धन एंठने का काम किया है। उन्होंने वादा किया कि आगामी विधानसभा चुनाव में अगर इनेलो और बसपा की सांझी सरकार बनती है तो किसानों का कर्जमुक्त करने के साथ-साथ उसकी फसल का सही मूल्य मिले इसके लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू की जाएगी।
नेता विपक्ष ने भाजपा सरकार पर हर वर्ग चाहे किसान हो, मजदूर हो, कर्मचारी हो या व्यापारी सभी को ठगने का आरोप लगाते हुए कहा कि इनेलो-बसपा कि सरकार बनने पर हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी। इसके लिए उन्हें बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार महंगी बिजली के नाम पर लोगों को लूट रही है इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे।
उन्होंने याद दिलाया कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएंगे लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया।  नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि मोदी ने वादा किया था कि हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए दिए जाएंगे लेकिन चार साल बीत जाने के बाद भी किसी भी नागरिक के खाते में 15 नए पैसे भी जमा नहीं हुए।
नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी। उन्होंने इनेलो-बसपा गठबंधन पर बोलते हुए कहा कि यह कोई राजनैतिक गठबंधन नहीं, यह भाई-बहन के रक्षाबंधन का गठजोड़ है जो देश व प्रदेश के राजनैतिक बदलाव में निर्णायक साबित होगा।

इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार  हर मोर्चे पर असफल साबित हुई है। आज हर वर्ग चाहे कर्मचारी हो, किसान हो या फिर आम जनता सभी सरकार भाजपा सरकार के खिलाफ सडक़ों पर उतरे हुए हैं। इस अवसर पर बीजेपी से चार बार सांसद और हिमाचल व उत्तरप्रदेश के राज्यपाल रहे दिवंगत नेता सूरजभान के परिवार ने भाजपा छोड़ दी है। उनकी बहन लेखवती और परिवार ने अभय सिंह चौटाला की मौजूदगी में बीजेपी का दामन छोडक़र इनेलो को ज्वॉइन किया है।
एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, बसपा प्रदेश प्रभारी नरेश सारन, पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा, विधायक रणबीर गंगवा, रामचंद्र कम्बोज, बलवान दौलतपुरिया, पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी, सीमा चौधरी, प्रवीण आत्रेय व एसपी अरोड़ा सहित अनेक गठबंधन कार्यकर्ता थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *