Home Breaking मंत्री ओपी धनखड़ का बिजली कटौती को लेकर बड़ा बयान, जगमग योजना से जुड़ने पर ही मिलेगी 24 घंटे बिजली

मंत्री ओपी धनखड़ का बिजली कटौती को लेकर बड़ा बयान, जगमग योजना से जुड़ने पर ही मिलेगी 24 घंटे बिजली

0
0Shares

Deepak Khokhar, Yuva Haryana

Rohatak

प्रदेश के पंचायती राज मंत्री ओपी धनखड़ ने हरियाणा के गांवों में बिजली संकट पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने स्पष्ट तौर पर कह दिया है कि सबको मिलजुल कर आदत बदलनी होगी और बिजली का इस्तेमाल करने पर भुगतान जरूर करें। साथ ही उन्होंने कहा कि जगमग योजना से जुड़ने पर ही 24 घंटे बिजली मिलेगी।

वहीं, योजना को स्वीकार न करने वाले गांवों में सरकार के रूटीन के हिसाब से ही बिजली दी जाएगी। उन्होंने दावा कि हरियाणा के 2500 गांवों में फिलहाल 24 घंटे बिजली दी जा रही है।

ओपी धनखड़ शुक्रवार को रोहतक के काहनौर गांव में थे। उन्होंने यहां पंचायत व विकास की प्रदेश स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। बैठक के दौरान प्रदेश भर के अधिकारी मौजूद रहे। इस बैठक में पंचायती राज विभाग से जुड़े सभी प्रकार के कार्यों की समीक्षा की गई।

इसी दौरान पत्रकारों से बातचीत में पंचायती राज मंत्री ने बिजली संकट के प्रमुख तौर पर दो कारण गिनवाए। उन्होंने कहा कि एक तो बिजली पर 6600 करोड़ रूपए की सबसिडी है और दूसरा 7 हजार करोड़ रूपए से ज्यादा लाइन लॉस है। इसलिए इस गैप को भरना जरूरी है। उन्होंने कहा कि बिजली की आपूर्ति का अभाव नहीं है, संकट पूंजी का है। लाइन लॉस को कम करना होगा।

मंत्री धनखड़ ने पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के भाजपा सरकार में एक भी बिजली कारखाना न खुलने पर भी स्पष्टीकरण दिया। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम की बहुत बातें तथ्य परख नहीं हैं। एक समय ऐसा था जब हरियाणा के कारखानों में बिजली पैदा करने पर ज्यादा खर्च आता था और बाहर से बिजली खरीदने पर सस्ती पड़ती थी। मौजूदा समय में देश में बिजली का बहुत बड़ा बाजार है। अब कोई समस्या नहीं है, इसके बावजूद बाहर से बिजली खरीद रहे हैं।

उन्होंने तर्क दिया कि दिन में बिजली महंगी है और रात को सस्ती, इसलिए रात को ज्यादा बिजली देते हैं।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नाबालिग का अपहरण कर किया था दुष्कर्म, अब 20 साल काटनी पड़ेगी जेल

Yuva Haryana, Chandigarh रेवाड़ी के …