शिक्षकों पर हो रहे अन्याय को नहीं किया जाएगा सहन- डॉ. प्रदीप चौहान

स्थानीय हरियाणा

Yuva Haryana
Kurukshetra, 10 March, 2019

आगामी कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के चुनाव में अध्यक्ष पद के प्रत्याशी और कुटा के पूर्व अध्यक्ष डॉ. प्रदीप चौहान और उनके समर्थक शिक्षकों ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के तमाम शिक्षकों को अपने साथ जोड़ने की कवायद शुरू कर दी है इसी कड़ी मे आज डॉ. प्रदीप चौहान ने अपने समर्थक शिक्षकों के साथ विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के शिक्षकों से मिलकर उनसे अपने लिए वोटों की अपील की ।

वहीं इस दौरान कुटा चुनाव के लिए अध्यक्ष पद के प्रत्याशी डॉ. प्रदीप चौहान ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा हम सेल्फ फाइनेंस कोर्स के अंतर्गत आने वाले शिक्षकों को चुनाव से पहले ही सातवें वेतन आयोग के तहत लाभ दिलवाएंगे और ये शिक्षक विश्वविद्यालय का अभिन्न हिस्सा है इनको भी अन्य शिक्षकों की तरह पूरा लाभ मिलेगा और जिसको लेकर विश्वविद्यालय के कुलपति को चिट्टी लिखकर भी अवगत करवा दिया गया है । उन्होंने चिट्ठी में लिखा है कि विश्वविद्यालय में कई ऐसे सेल्फ फाइनेंस कोर्स चल रहे है विद्यार्थी जिसका लाभ उठा कर नए आयाम स्थापित कर रहे है । वहीं इन कोर्स से विश्वविद्यालय को काफ़ी आर्थिक और अनुसंधान में फायदा मिल रहा है ऐसे में विश्वविद्यालय को वेतन की विसंगतियों को दूर करना ही पड़ेगा । उन्होंने कहा एस.एफ.एस के अंतर्गत आने वाले शिक्षकों को बजटीड में कन्वर्ट करवाना भी हमारी प्राथमिकता रहेगी ।

उल्लेखनीय है सेल्फ फाइनेंस कोर्स के अंतर्गत आने वाले शिक्षकों को सातवें वेतन आयोग के तहत लाभ ना मिलने से उनमें गहरा रोष पनपा हुआ है ऐसे में डॉ.चौहान द्वारा चुनाव से पहले ही उनको सातवें वेतन आयोग का लाभ दिलवाने का पूरा भरोसा देना उनके लिए सुकून की बात है ।

वहीं पत्रकारों द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में डॉक्टर प्रदीप चौहान ने कहा शिक्षकों की प्रमोशन के सिस्टम को ठीक करवाना हमारा लक्ष्य है उन्होंने कहा अगर उनको कुटा की सेवा करने का मौका मिलता है तो वरिष्ठता के आधार पर नियुक्ति, शिक्षकों के मकानों की मरम्मत और पुरानी पेंशन को लागू करवाने के लिए आंदोलन करेंगे ।

डॉ.चौहान ने कहा शिक्षकों की विश्वविद्यालय में सेवा की आयु सीमा भी 65 वर्ष तक करवाने का पूरा प्रयास किया जाएगा और शिक्षकों को वेतन के एरीयर का भी समय पर भुगतान हो इसके लिए भी उचित कदम उठाए जाएँगे। उन्होंने कहा शिक्षकों की अन्य छोटी-बड़ी समस्या का समय पर निदान करवाने के लिए भी हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *