बेटे की चाह में मां- बाप गए थे तांत्रिक के पास, छठी बार भी हुई बेटी तो उतारा मौत के घाट

Breaking अनहोनी चर्चा में देश बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Sirsa, 27 July, 2018

बेटे की चाह में बेटियों को मारने के मामले नहीं रुक रहे हैं। ऐसे में सरकार का बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ योजना भी कोई ख़ास काम नहीं आ रही है। साथ ही लोगों में अंधविश्वास भी बढ़ता जा रहा है। ऐसा ही मामला सामने आया है सिरसा के एक गांव का ,जहां परिवार में पहले ही 5 लड़कियां है और छटी होने पर उसे मौत के घाट उतार दिया गया । मामला सिरसा के गांव कैरांवाली का है। गांव के ही एक व्यक्ति ने चाइल्ड हेल्पलाइन के चंडीगढ़ कार्यालय में 14 जुलाई को जन्मी बच्ची की हत्या के आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करवाई है।

मामला यह है की गांव बाहिया के निवासी एक परिवार में एक व्यक्ति की पांच बेटियां हैं। जिनमें से तीसरी लड़की की मौत हो चुकी है। जबकि चार अभी जिंदा हैं। छटी बार परिवार की महिला गर्भवती थी। बेटे की चाह में परिजन पास के ही गांव में एक तांत्रिक के पास पहुंचे।

तांत्रिक ने परिजनों से कहा कि इस बार बेटा ही होगा। 14 जुलाई को परिवार के लोग महिला को डिलिवरी के लिए रानियां के अस्पताल में ले गए। गाड़ी चालक का भी कहना है कि गाड़ी में महिला का पति ये बोल रहा था कि अगर इस बार बेटा हुआ तो ठीक, बेटी हुई तो कुछ दिन ही जी पाएगी। इसी दौरान शाम को महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया।

रानियां अस्पताल के स्टाफ सदस्यों का भी कहना है कि जब परिवार के लोग महिला व बच्ची को लेकर जा रहे थे तो बच्ची का पिता अफसोस जताते हुए कह रहा था कि चार पहले ही हैं, पांचवीं का क्या करूंगा। 16 जुलाई की दोपहर को नवजात बच्ची की अचानक मौत हो गई और परिवार के लोग गुपचुप तरीके से उसका शव गांव में ही स्थित श्मशान भूमि में दफना आए। गांव के ही एक शख्स को पूरी कहानी पता चली तो उसने चाइल्ड हेल्पलाइन को सूचित किया।

मामले में सीडब्ल्यूसी की सदस्या गीता कथूरिया ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत रानियां पुलिस को आगामी कार्रवाई के लिए पत्र भेजा जाएगा।

दूसरी ओर एसएमओ रनिया नरेश सहारण ने बताया की महिला के पूर्व में पांच लड़कियां थी। जिनमें से तीसरे नंबर की लड़की की मौत हो चुकी है। जबकि चार जिंदा बताई जा रही हैं। गांव के कुछ लोगों ने आरोप लगाया है कि बच्ची को जानबूझकर मारा गया है। बच्ची के पिता को एक स्टाफ ने यहां तक कहते हुए सुना गया है कि वह बाबा को नहीं छोड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *