जिन अभिभावकों नें नहीं दर्ज करवाया पंजीकरण रिकॉर्ड में बच्चे का नाम तो पढ़ ले यह खबर

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

20 Nov,2019

जिन अभिभावकों ने अपने बच्चों का नाम पंजीकरण रिकॉर्ड में दर्ज नहीं करवाया है उनके लिए जरुरी खबर है। क्योंकि स्वास्थ्य विभाग ने 2002 से पहले बच्चों का नाम पंजीकरण रिकॉर्ड में दर्ज करवाने का समय 31 दिसंबर तक का समय दिया है। बता दें की अब 2002 से पहले जन्में बच्चों का नाम पंजीकरण रिकॉर्ड में दर्ज करवाना होगा। ऐसा न करने वाले अभिभावकों पर स्वास्थ्य विभाग कोई मेहरबानी नहीं करेगा। जरुरी कागजात दिखाकर अभिभावक बच्चे का नाम सरल केंद्र या कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर दर्ज करवा सकते हैं।
स्वास्थ्य विभाग ने 2002 से पहले जन्मे बच्चों का नाम पंजीकरण रिकॉर्ड में दर्ज करवाने के लिए 5 साल का समय दिया था। लेकिन इसके बाद भी लोग अपने बच्चों के नाम पंजीकरण रिकॉर्ड में दर्ज करवाने नहीं आए। जिस पर स्वास्थ्य विभाग ने सख्ती बरतते हुए नाम दर्ज करवाने का समय 31 दिसंबर रख दिया। स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में प्रदेश के सीएमओ को पत्र लिखा की 31 दिसंबर के बाद किसी भी बच्चे का नाम पंजीकरण रिकॉर्ड में दर्ज नहीं किया जाएगा।
कुछ साल पहले जब स्वास्थ्य विभाग ने जांच की तो सामने आया की वर्ष 2002 से पहले के ऐसे हजारों केस थे जिसमें नाम का कॉलम खाली छोड़ा गया था। बच्चे के नाम की जगह उसकी जन्म तिथि या फिर माता-पिता का ही नाम लिखा हुआ था। जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग ने 2002 से पहले जन्में बच्चों का नाम पंजीकरण रिकॉर्ड में दर्ज करवाने का समय 5 साल रख दिया लेकिन उसके बाद भी लोगों नें नाम दर्ज नहीं करवाए जिससे थककर विभाग ने नाम दर्ज करवाने का समय 31 दिंसबर तक दिया है।
अभिभावको को होती है परेशानी
जब बच्चा स्कूल में बोर्ड कक्षा में पहुंच जाता है तो जन्म प्रमाण पत्र नहीं होने के कारण उसका बोर्ड कक्षा में एनरोलमेंट नहीं हो पाता। जिससे बाद में अभिभावकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसी परेशानी को कम करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने यह फैसला लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *