डॉक्टर की अनुपस्थिती के बावजूद मरीज को किया भर्ती, नर्स ने व्हाट्सएप के जरिए डॉक्टर से सलाह कर किया इलाज, मरीज की हुई मौत

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Jagadhari, 29 Nov, 2018

जगाधरी के मैक्सवेल अस्पताल से एक बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया हौ, जहां डॉक्टरों की अनुपस्थिति पर नर्स द्वारा मरीज को भर्ती किया गया और फिर व्हाट्सएप के जरिए डॉक्टर से सलाह लेकर मर्जी को इंजेक्शन लगाया गया। लेकिन मरीज की मौत हो गई।

जिसके बाद मृतक के परिजनों ने अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए शव को लेने से इंकार कर दिया। पीड़ित परिवार द्वारा पुलिस को सूचित किया गया। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है, रिपोर्ट आने के बाद ही पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

मृतक बलजीत 62 वर्षीय थे और वह हिन्दू गर्ल्स स्कूल में चतुर्थ श्रेणी पर कार्यरत थे। बलजीत की पत्नी कमला ने बताया कि मंगलवार शाम को  उन्हें उल्टियां लगी थी। दोनों बेटे पिता को बाइक पर बैठाकर अस्पताल लेकर आए। जहां डॉक्टर मौजूद नहीं थे, लेकिन इसके बावजूद बलजीत को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया।

पीड़ित पत्नी कमला ने बताया कि रातभर हेड नर्स से पूछती रही कि पति की हालत ज्यादा गंभीर तो नहीं है। लेकिन किसी ने कुछ नहीं बताया सिर्फ इतना ही कहा कि सांस लेने में तक्लीफ हो रही है। हेड नर्स ने व्हाट्सएप के जरिए डॉक्टर से सलाह लेकर इलाज किया और सुबह कहा कि उनकी मौत हो गई है।

परिजनों ने आरोप लगाया है कि नर्स ने पैसों के लालच में बलजीत को भर्ती किया था और उनकी बड़ी लापरवाही से पति की मौत हुई है। वहीं सिविल सर्जन डॉ. कुलदीप ने बताया कि मृतक के परिजनों द्वारा कोई शिकायत नहीं दी गई, शिकायत आने पर सख्त कदम उठाया जाएगा।

वहीं मैक्सवेल अस्पताल के मैनेजर राहुल ने बताया कि अस्पताल के मालिक दिनेश वैष्णों देवी गए हुए हैं। इसके अलावा दो डॉक्टर 2 दिनों की छुट्टी पर हैं। मरीज को कहीं और लेकर जाने को कहा गया था, लेकिन परिजन जाने को तैयार नहीं थे। इसलिए इंसानियत के नाते बलजीत को भर्ती किया और नर्स ने डॉक्टर को रिपोर्ट दिखाकर इंजेक्शन दिए। ड्यूटी पर नर्स और स्टाफ काफी क्वालिफाइड हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *