आठ जिलों के 12 हजार बुजुर्गों की रुकी पेंशन, यह है सबसे बड़ा कारण

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 28 Nov, 2018

हरियाणा के करनाल क्षेत्रीय कार्यालय के तहत कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के तहत करीब 12 हजार पेंशनधारकों की पेंशन रुक गई है। इन्हे नवंबर माह की पेंशन नहीं मिली है और डीएलसी जमा करवाने पर दिसंबर माह की पेंशन भी रुकने के आसार है।

दरअसल विभाग की तरफ से पेंशनधारकों को डिजीटल लाइफ सर्टिफिकेट पेंशन के लिए जमा करवाने का नियम है, जिसके तहत अभी करनाल ईपीएफओ के आठ जिलों में करीब 12 हजार बुजुर्गों ने अपने डीएलसी जमा नहीं करवाए हैं जिस वजह से उनकी पेंशन रुक गई है।

विभाग भी इन बुजुर्गों की पेंशन तब तक जारी नहीं करेगा जब तक डीएलसी जमा ना हो जाए। करनाल स्थित क्षेत्रीय कार्यालय से 45 हजार पेंशनधारक रजिस्टर्ड हैं।

नियमों के मुताबिक रिटायरमेंट के बाद सभी को अपनी मासिक पेंशन लेने के लिए साल में एक बार जीवन प्रमाण पत्र नवंबर माह में देना होता है। जीवन प्रमाण पत्र देनेकी प्रक्रिया पहले मैनुअल होती थी, लेकिन अब इसको डिजीटल कर दिया गया है। इसलिए साल में एक बार पेंशनधारकों को डीएलसी जमा करवाना होता है ताकि उनके बारे में सही जानकारी विभाग के पास रहे।

हालांकि अब विभाग ने इन पेंशनधारकों को 31 दिसंबर तक का वक्त डीएलसी जमा करवाने के लिए दिया है। विभाग की ओर से डीएलसी जमा कराने के लिए विशेष अभियान चलाया गया है, जो कि 31 दिसंबर तक जारी रहेगा।

पहली नवंबर से चले इस अभियान में अब तक 16 हजार से ज्यादा पेंशनधारकों ने डीएलसी जमा करवाया है, वहीं जिन 12 बजार बुजुर्गों की डीएलसी की वजह से पेंशन रुकी है, उनके लिए डीएलसी जमा करवाने का यह अच्छा मौका है।

ऐसे में करनाल के अलावा सोनीपत, पानीपत, कैथल, कुरुक्षेत्र, अंबाला, पंचकूला और यमुनानगर जिले के ये पेंशनधारक दिसंबर माह की भी पेंशन से वंचित रहेंगे। जब तक डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा नहीं कराते तब तक पेंशन जारी नहीं होगी।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *