350 महादलित परिवारों ने बीजेपी सरकार को दी धर्म परिवर्तन की धमकी, कहा हिन्दू धर्म में न तो इज्जत और न नौकरी मिल रही

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Dinesh Kumar, Yuva Haryana

Faridabad, 25 Oct, 2018

फरीदाबाद में 350 महादलित परिवारों ने धर्म परिवर्तन करने की धमकी दी है, इन परिवारों ने हरियाणा सरकार के प्रति नाराजगी जताते हुए कहा है कि इस सरकार में उनकी सुध लेने वाला कोई भी नहीं है।

गौरतलब है की ये वे 350 कर्मचारी हैं जिन्हें हरियाणा में मई महीने में हुई सफाई कर्मचारियों के महा हड़ताल के बाद शहर में सफाई व्यवस्था न बिगड़ने पाए इसके लिए इन्हें नगर निगम द्वारा सफाई कर्मचारी के रूप में लिया गया था। लेकिन हड़ताल खत्म होते ही इन्हें नौकरी से निकाल दिया गया। तभी से ये लोग अपनी नौकरी की बहाली को लेकर धरने पर बैठे हैं।

इनका आरोप है की हरियाणा सरकार को ये लोग अपनी समस्या से कई बार अवगत करा चुके हैं, लेकिन सरकार के कानों पर इनकी समस्या के समाधान को लेकर जूं तक नहीं रेंग रही, बस सरकार की इसी अनदेखी के चलते इन लोगों ने सरकार को धर्म परिवर्तन करने की धमकी दी है।

यह सभी फरीदाबाद महादलित समुदाय के लोग हैं, जो पिछले लगभग 5 महीने से नगर निगम के गेट पर अपनी नौकरी की बहाली की मांग को लेकर धरना दे रहे हैं। इनका आरोप है कि लेकिन सरकार इनकी तरफ कोई ध्यान नहीं दे रही है, जबकि ये लोग सरकार को अपनी मांगो से कई बार अवगत करा चुके हैं। लेकिन सरकार इन पर ध्यान नहीं देती, जिसके चलते ये लोग अपना हिन्दू धर्म बदलने के लिए मजबूर हैं।

इनके मुताबिक जिस एक विशेष समुदाय से ये लोग आते हैं, उस समुदाय को सरकार नौकरी देने की बजाय नौकरी से बाहर निकाल रही है। जबकि ये लोग अपनी नौकरी की बहाली को लेकर नगर निगम के गेट पर लगभग 5 महीने से धरने पर बैठे हैं।

बस सरकार की इसी अनदेखी के चलते इन लोगों ने सरकार को धर्म परिवर्तन करने की धमकी दी है और सरकार को सोमवार तक का समय दिया है कि अगर सरकार ने उनकी समस्या का समाधान नहीं किया, तो वह सोमवार को 350 सफाईकर्मी परिवारों के साथ अपना धर्म बदल कर या तो मुस्लिम बन जाएंगे या फिर क्रिशचन धर्म अपना लेंगे। उन्होंने कहा की इस धर्म में रहकर न तो उन्हें इज्जत मिल रही है और न ही उन्हें नौकरी, तो हिन्दू धर्म में उनके रहने का क्या फायदा। धर्म बदलने के बाद उन्हें कम से कम इज्जत तो मिलेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *