पंचकूला हिंसा में डेरामुखी की भूमिका जांचने पर हाईकोर्ट में दर्ज हुई याचिका

बड़ी ख़बरें हरियाणा

साध्वी यौन शोषण मामलों में 20 साल की सजा काट करे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दाखिल हुई है। इसमें सजा से पहले सीबीआई कोर्ट द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद पंचकूला में हुई हिंसा और तोड़फोड़ में राम रहीम की भूमिका की जांचने की मांग की गई है।

पटियाला के सुखविंदर सिंह और सिरसा के राम कुमार बिश्नोई की लगाई गई याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई होगी। याचिका में आइजी केके राव के उस बयान का हवाला दिया गया है जिसमें उन्होंने दोषी ठहराने के बाद डेरा मुखी द्वारा समर्थन को हिंसा और तोड़फोड़ के लिए इशारा करने की बात कही थी।

याचिका के मुताबिक डेरामुखी ने लाल बैग के जरिये अपने समर्थकों को हिंसा फैलाने का इशारा किया था। दंगों से ठीक पहले डेरामुखी ने तेरावास में गुप्त बैठक बुलाई थी। जिसमें इस पूरी साजिश को रचा गया था। पंचकूला में दर्ज एफआइआर में डेराप्रमुख राम रहीम, बेटे जसमीत सिंह, बेटी चरणप्रीत कौर, अमरप्रीत इंसा और उसके पति को भी आरोपित बना उनसे पूछताछ की जाने की मांग की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *