पेट्रोल-डीजल हो सकता है काफी सस्ता, जानिये कैसे ?

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें बिजनेस सरकार-प्रशासन हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 4 May, 2018

महंगाई की मार झेल रही आम जनता को आज थोड़ी राहत मिल सकती है और पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही बेतहाशा बढोत्तरी पर आज रोक लग सकती है।

आज जीएसटी काउंसिल की बैठक है, माना जा रहा है कि आज की बैठक में पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की घोषणा की जा सकती है। इसके अलावा चार अन्य प्रस्तावों पर भी आज मंजूरी मिल सकती है, वित्तमंत्री आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये ही इस बैठक को संबोधित करेंगे।

माना जा रहा है कि अगर पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाता है कि काफी हद तक तेल के दाम कम हो सकते हैं, अब हर राज्य में पेट्रोल और डीजल की कीमतें काफी ऊंची जा रही है, लेकिन जीएसटी के दायरे में आने के बाद काफी कम हो जाएगी।

जानकारों के मुताबिक पेट्रोल-डीजल को अगर जीएसटी के दायरे में लाने को आज मंजूरी मिल जाती है तो पेट्रोल के दाम 50 रुपये के आसपास पहुंच सकते हैं, क्योंकि हर राज्य के अलग-अलग टैक्स की वजह से भी तेल के दामों में बढ़ोत्तरी हो रही है।

एक जानकारी के मुताबिक पेट्रोलियम की कीमतों में 45 से लेकर 48 फीसदी तक टैक्स का हिस्सा होता है, किन्ही राज्यों में राज्य सरकारों ने इस टैक्स में 28 से 30 फीसदी छूट भी की हुई है, लेकिन फिर भी अगर जीएसटी के दायरे में पेट्रोल-डीजल आ गया तो आम आदमी की बल्ले हो जाएगी।

इधर पेट्रोलियम कंपनियों की माने तो ऐसा होने पर तेल की कीमतों में तो काफी कमी आएगी, तेल कंपनियों को इससे 15 से 25 हजार करोड़ रुपये का नुकसान होगा. लेकिन जो तेल कंपनियों को घाटा होगा वो ग्राहकों पर कहीं ना कहीं अतिरिक्त भार पड़ेगा।

भारत के पड़ोसी देशों में भी तेल की इतनी कीमतें नहीं है जितनी भारत में तेजी से बढ़ रही है. पाकिस्तान में तेल की कीमतें करीब 50 रुपये प्रति लीटर है जबकि श्रीलंका में भी 55 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से पेट्रोल मिलता है. इसके अलावा भूटान में 40 से 45 रुपये प्रति लीटर तेल के दाम हैं।

 

Read This News Also >>>>
देश में पेट्रोल, डीजल की कीमतों में भारी उछाल, 55 महीने बाद सबसे हाई पर तेल के दाम

1 thought on “पेट्रोल-डीजल हो सकता है काफी सस्ता, जानिये कैसे ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *