Home Breaking पिछले तीन महीनों में पेट्रोल-डीजल में रिकॉर्ड कटौती, 16 रुपये लीटर तक सस्ता हुआ तेल

पिछले तीन महीनों में पेट्रोल-डीजल में रिकॉर्ड कटौती, 16 रुपये लीटर तक सस्ता हुआ तेल

0
0Shares

Yuva Haryana

Chandigarh, 31Dec, 2018

नया साल यानि 2019 कल से शुरू हो जाएगा और अप्रैल-मई में लोकसभा चुनाव संभव हैं। ऐसे में इस वर्ष को चुनावी वर्ष कहा जाना गलत नहीं होगा। चुनाव के दौरान पेट्रोल डीजल के दामों को एक चुनावी मुद्दे के रुप में देखा जाता है। परन्तु इस समय पेट्रोल डीजल के घटते दाम विपक्षी पार्टियों को धोखा देते दिख रहे है, जिस तरफ पेट्रोल डीजल के दाम कम हो रहे हैं और अगर ऐसे ही यह कमी जारी रही तो विपक्ष को बैलगाड़ी प्रदर्शन करने का मौका शायद ही मिले, अगर दाम बढे तो विपक्ष बैलगाड़ी प्रदर्शन करता हुआ देखा जा सकेगा। पिछले तीन महीनों में पेट्रोल डीजल के दामों में लगभग 16 रूपये प्रति लीटर की गिरावट आ चुकी है।

पेट्रोलियम कंपनियों द्वारा आज भी पेट्रोल डीजल के दामों में कमी की है जिससे पेट्रोल 2018 में सबसे निम्न स्तर पर आ गया है पेट्रोलियम कंपनियों के मुताबिक, दिल्ली में पेट्रोल 68.84 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल 62.86/ प्रति लीटर पर आ गया है। मुंबई में पेट्रोल 74.47 प्रति लीटर जबकि डीजल 65.76 तक पहुँच गया है। चार अक्टूबर को पेट्रोल दिल्ली में 84 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 91.34 रुपये प्रति लीटर के सर्वाधिक उच्च स्तर पर पहुंच गया था।

वर्ष 2018 भारतीय तेल और गैस क्षेत्र के लिए काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा। कच्चे तेल का भाव इस साल 86 डॉलर प्रति बैरल के स्तर को पार कर गया। इधर, प्रमुख तेल उत्पादक देशों द्वारा जनवरी 2019 से उत्पादन में कटौती करने के फैसले के बावजूद तेल का भाव इस महीने 50 डॉलर प्रति बैरल से नीचे चला गया। कच्चे तेल के दाम में उछाल के कारण 2018 में पेट्रोल और डीजल की कीमतें रिकॉर्ड उच्च स्तर पर चली गई। पेट्रोल और डीजल की कीमतें गतिशील कीमत निर्धारण प्रक्रिया (डायनामिक प्राइसिंग मेकेनिज्म) के तहत तय होती हैं, जिसे पिछले साल अमल में लाया गया।

साल 2018 में पेट्रोल और डीजल का सफर…..

कच्चे तेल के दाम में बढ़ोतरी होने से देसी मुद्रा रुपये में डॉलर के मुकाबले भारी गिरावट आई और रुपया डॉलर के मुकाबले रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ गया, जिससे तेल आयात बिल में इजाफा हुआ और चालू खाते का घाटा बढ़ गया. तेल का दाम बढ़ने पर सरकार को पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद कर में कटौती करनी पड़ी. साथ ही, सरकार ने गैस का इस्तेमाल बढ़ाने की दिशा में कोशिशें तेज कर दीं.

देशभर में तेल के दाम में लगातार 15 दिनों तक जारी वृद्धि के दौरान मई में पेट्रोल का दाम मुंबई में 86 रुपये प्रति लीटर को पार कर गया। तेल के दाम रोज नई ऊंचाई को छूने लगा। ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पेट्रोलियम एक्सपोर्टिग कंट्रीज (ओपेक) और गैर-ओपेक तेल उत्पादकों ने इसी महीने वियना में हुई बैठक में तेल के उत्पादन में रोजाना 12 लाख बैरल की कटौती करने का फैसला लिया।

इसके बाद सितंबर में पेट्रोल और डीजल के दाम में फिर रोजाना बढ़ोतरी होने लगी और देशभर में तेल का दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर चला गया। पेट्रोल मुंबई में 91 रुपये से ज्यादा जबकि दिल्ली में 84 रुपये प्रति लीटर हो गया। इस बीच पेट्रोल और डीजल को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाने की मांग होने लगी. केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद कर में 1.5 रुपये प्रति लीटर की कटौती और एक रुपये प्रति लीटर की कटौती का भार तेल विपणन कंपनियों को उठाने को कहा।

केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान तेल उत्पादक देशों के समूह ओपेक से बात करने के लिए जून में वियना गए। प्रधान ने कहा, “ओपेक देशों की सरकारों द्वारा जिम्मेदारी के साथ तेल की कीमतों के निर्धारण की दिशा में प्रयास करने की जरूरत है.”प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्टूबर में नई दिल्ली में दुनियाभर की तेल कंपनियों के प्रमुखों से मुलाकात के दौरान उत्पादकों और उपभोक्ताओं के बीच मजबूत साझेदारी पर बल दिया। इसके बाद सऊदी अरब ने कहा कि वह ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध से पड़ने वाले प्रभाव को कम करने के लिए नवंबर से उत्पादन में बढ़ोतरी करेगा।

पेट्रोल और डीजल के दाम में अक्टूबर के उच्चतम स्तर से करीब 15 फीसदी की गिरावट आई है। इस बीच भारत को अमेरिका ने ईरान से तेल खरीदने की छूट प्रदान की और प्रधान ने कहा कि वित्त मंत्रालय खाड़ी देश से तेल आयात के लिए भुगतान की मॉडिलिटी पर विचार कर रहा है। तेल का घरेलू उत्पादन बढ़ाने की दिशा में प्रयास जारी रखते हुए सरकार ने इस साल 19 करोड़ टन तेल और इतने ही परिमाण में गैस के साथ डिस्कवर्ड स्मॉल फील्ड (डीएसएफ) की बोली के लिए दूसरे चरण की शुरुआत की, डीएसएफ के लिए बोली का पहला चरण 2016 में शुरू किया गया था।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

मामा के घर आई नाबालिग भांजी के साथ गैंगरेप, तीन आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज

Yuva Haryana, Tosham तोशाम इलाकí…