खेल मैदान को लेकर तपती धूप में भूख हड़ताल पर बैठे खिलाड़ी

Breaking खेल बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Manu Mehta, Yuva Haryana
Gurugram, 14 April, 2018

खेलों में हरियाणा के खिलाड़ी देश में सबसे ज्यादा मेडल ला रहे हैं, लेकिन यहां पर खिलाड़ियों की ही अनदेखी हो रही है। मामला गुरुग्राम के घामड़ौज गांव का है । यहां पर खिलाड़ियों ने ग्राउंड नहीं मिलने के चलते भूख हड़ताल शुरु कर दी है। खिलाड़ियों का आरोप है कि उनके ग्राउंड पर वन विभाग ने खुदाई करके पेड़ लगा दिये हैं. वहीं ये जमीन पंचायत ने गांव घामड़ौज के बच्चों को खेलने के लिए दी हुई थी।

खिलाड़ियों का आरोप है कि वो पिछले तीन सालों से इसी ग्राउंड पर खेल रहे हैं, लेकिन अब वन विभाग को यह जमीन दे दी गई है, लेकिन खिलाड़ी इसका विरोध कर रहे हैं, खिलाड़ियों ने खेल के मैदान को बचाने के लिए भूख हड़ताल शुरु कर दी है।

जानकारी के मुताबिक करीब तीन साल पहले इसे पंचायत ने मैदान के लिए दिया था, लेकिन इसी साल फरवरी में वन विभाग ने ग्राउंड को अपने अंडर में ले लिया था, इसकी बाद से खिलाड़ियों की इंट्री यहां पर बंद हो गई थी।

खिलाड़ियों का आरोप है कि खेल के मैदान पर राजनीति हो रही है। दो महीने से कोच और खिलाड़ी नेताओं और अधिकारियों से मुलाकात कर चुके हैं, लेकिन कोई भी खिलाड़ियों की बात नहीं सुन रहा है।

कोच महेश राघव का कहना है कि घामड़ौज फुटबॉल मैदान के लिए उन्होंने कई अधिकारियों से मुलाकात की है, लेकिन किसी ने उनकी याचिका को नहीं सुना। राज्य वन मंत्री राव नरबीर सिंह से भी मुलाकात की, लेकिन कोई हल नहीं निकल पा रहा है। मार्च में 500 गांव के लोग और खिलाड़ी मंत्री से मिलने गए थे। उन्होंने भी सिर्फ आश्वासन ही दिया।

छोटे खिलाड़ी भी उदास मन से कहते हैं कि इस मैदान पर राजनीति हो रही है, अगर खिलाड़ियों को यह मैदान नहीं दिया गया तो छोटे बच्चे भी भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।

 

Read This News Also >>>>
भारत में होगी पहली बार प्रोफेशनल बॉक्सिंग नाइट, भारत के राजेश कसाना फिलिपींस के बॉक्सर को देंगे चुनौती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *