पुलिस ने एक लाख का इनामी बदमाश किया गिरफ्तार, दोहरे हत्याकांड में है आरोपी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Rohtak, 07 Jan, 2018

हरियाणा पुलिस रोहतक की अपराध शाखा प्रथम ने वर्ष 2017 के अगस्त महीने में लघु सचिवालय के पास हत्याकांड के मामलें में लगातार करावाई करते हुए एक लाख के ईनामी बदमाश को काबू करने में सफलता हासिल हुई है। यह जानकारी आज हरियाणा पुलिस मुख्यालय के प्रवक्ता ने दी।

प्रवक्ता के अनुसार पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह रंधावा ने पिछले वर्ष अगस्त महीने में लघु सचिवालय के पास हुए हत्याकांड के मामलें में कड़ा संज्ञान लेते हुए हत्याकांड की जांच के लिए उप पुलिस अधीक्षक रमेश कुमार की निगरानी में कई टीमों का गठन कर दिया था और अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार करने के निर्देश भी दिये थे। पुलिस ने वारदात के 36 घन्टे के अन्दर ही वारदात में शामिल ममता के असल माता पिता रामकेश एवं सरिता और गोद लेकर पालन पोषण करने वाले श्याम कालोनी निवासी माता पिता रमेश एवं कृष्णा को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने मामलें में एस.सी एक्ट की धारा को भी जोड़ दिया था।

अपराध शाखा प्रथम ने हत्याकांड में कारवाई करते हुए 14 अगस्त को वारदात करने के लिए आये बदमाश मोहित उर्फ मगंलू पुत्र बलराज वासी ताजा माजरा गद्दी खेड़ी रोहतक, प्रवीत उर्फ प्रिसं उर्फ चिन्टु उर्फ कांन्चा व प्रसांत उर्फ टोनी पुत्र हरेन्द्र वासी खेरवा रोड़ ककंर खेड़ा सन्त नगर मेरठ को पुलिस मुठभेड़ के दौरान काबू कर लिया था। पुलिस ने आरोपियों से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद हुए थे और वारदात में प्रयोग गाड़ी को कब्जे में ले लिया था।

सोमवार की रात को अपराध शाखा प्रथम में तैनात सहायक उप निरीक्षक अमित कुमार की अगुवाई में सहायक उप निरीक्षक विनोद कुमार, मुख्य सिपाही विश्वजीत, सिपाही श्रीभगवान एवं सिपाही महाबीर ने मामलें मे कारवारी जारी रखते हुए गुप्त सूचना के आधार पर हत्याकांड में शामिल आरोपी विकाश पुत्र रामबीर बामड़ोली जिला बागपत युपी को गांव गद्दी खेड़ी से काबू कर लिया है।

प्रभारी सीआईए प्रथम ने बताया कि आरोपी विकास किसी काम से ममता के परिवार से मिलने के लिए गद्दी खेड़ी आया हुआ था लेकिन पुलिस द्वारा की गई मजबूत रैकी में असला सहित काबू आ गया। जिसकी पुलिस को कई महिने से तलाश थी। प्रारंभिक पुछताछ में सामने आया है कि आरोपी ने ही वारदात को अजांम देना था लेकिन किसी वजह से वारदात को अंजाम नही दे सका। हत्याकांड में प्रयोग हथियार विकास ने ही दिये थे। जो हथियारो को बहुत बड़ा सप्लायर है और आरोपी मेरठ के कुख्यात योगेश भदोड़ा गैंग का सदस्य भी है। योगेश भदोड़ा ने गैंग को हथियारों की सप्लाई करने की जिम्मेवारी विकास की ही लगाई थी। हत्याकांड को अंजाम देने के सात आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है। वारदात में शामिल ममता का चचेरा भाई सोमबीर गांव गद्दी खेड़ी की तलाश के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है जिसको जल्द ही काबू कर लिया जायेगा।

गौरतलब है कि अगस्त माह में शाम के समय लघु सचिवालय के गेट के सामने अज्ञात मोटर साईकल सवार युवकों ने नारी निकेतन करनाल से रोहतक कोर्ट में पेशी पर आई हुई गद्दी खेड़ी की ममता और उसके साथ आये करनाल पुलिस के सहायक उप निरीक्षक को गोली मार दी थी। जिस पर पुलिस अधीक्षक ने संज्ञान लेते हुए कई टीमों का गठन करके अपराधियों को काबू करने कि जिम्मेवारी सौपी थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *