दो अलग- अलग शहरों से पुलिस ने 4 लुटेरों को किया गिरफ्तार, कई वारदातों को दे चुके थे अंजाम

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 2 July, 2019

हरियाणा पुलिस द्वारा सिरसा में लूट की योजना बना रहे दो बदमाशों को गिरफ्तार कर स्नैचिंग की तीन वारदातों को सुलझा लिया गया है। पुलिस ने छीने गए आभूषण व अपराध में इस्तेमाल मोटरसाइकिल भी बरामद की है।

पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार आरोपी सगे भाई हैं, जिनकी पहचान पंजाब के जिला मानसा में बुर्ज मानसा निवासी बबलू सिंह और अवतार सिंह के रूप में हुई है।

प्रारंभिक पूछताछ के दौरान, दोनों ने डबवाली इलाके में महिलाओं की बालियां छीनने के अपराध को कबूल किया है। यह भी खुलासा हुआ है कि दोनों की आपराधिक पृष्ठभूमि रही है और आरोपी न्यायालय द्वारा उद्घोषित अपराधी और बेलजम्पर्स भी हैं।

इसके अतिरिक्त, उक्त आरोपी हरियाणा और पंजाब में स्नैचिंग, लूट, हत्या के प्रयास और हमला से संबंधित 11 घटनाओं में शामिल रहे हैं।
दोनों 3 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर हैं। पन्नीवाला रुलदू निवासी कुलदीप को भी आरोपी को आश्रय देने के आरोप में काबू किया गया है।

वहीं, पुलिस ने यमुनानगर जिले वाहन चोर गैंग के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से चोरी की गई 30 मोटरसाइकिल बरामद की हैं।
पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहांबताया कि पकड़े गए आरोपियों की पहचान उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर में पहलवानपुर निवासी विशाल उर्फ विकास व बिशनपुर निवासी कुलबीर के रूप में हुई है।

जिले में वाहन चोरी की घटनाओं की शिकायत मिलने के बाद वाहनों की चोरी पर नकेल कसने के लिए डिटैक्टीव स्टाफ यमुनानगर ने पुलिस अधिकारियों की दो विशेष टीमों का गठन किया। खुफिया नेटवर्क के जरिए जुटाए गए इनपुट पर काम करते हुए पुलिस टीमों ने दोनों आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से गिरफतार किया।

प्रारंभिक पूछताछ के दौरान आरोपियों ने जिले के विभिन्न क्षेत्रों से चोरी की गई 36 मोटरसाइकिलों की वारदात को स्वीकार किया है। यह भी खुलासा हुआ है कि उनकी नीयत चोरी किए गए वाहनों के फर्जी दस्तावेज बनाने की थी। लेकिन इससे पहले कि वे अपने अनैतिक कार्य में सफल हो पाते, पुलिस ने गुप्त सूत्रों के आधार पर उन्हें काबू कर लिया।

उन्होंने लोगों से वाहनों की बिक्री-खरीद शुरू करने व कम कीमतों पर एजेंसी से पुरानी मोटरसाइकिलों को लाने बारे बताया था।  इस मामले में और पूछताछ चल रही है, ताकि अपराध की अन्य घटनाओं में उनकी भागीदारी का पता लगाया जा सके और अन्य चोरी के वाहनों को भी बरामद किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *