कांग्रेस नेता को सरेआम 27 गोलियां मारने वाले आरोपी को पुलिस ने दबोचा  

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Pradeep Dhankhar, Yuva Haryana

Bahadurgarh, 4 Sep, 2018

बहादुरगढ़ के कांग्रेसी नेता मोनू जून की हत्या के 2 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपियों की पहचान गैंगस्टर सुनील उर्फ लाला और राकेश उर्फ डंड के रूप में हुई है। झज्जर पुलिस ने दोनो बदमाशों पर इनाम भी रख रखा था। पुलिस ने सुनील पर एक लाख रुपये और राकेश पर पचास हजार रुपये का इनाम रखा हुआ था।

बता दें कि दोनो बदमाशों पर हत्या, हत्या के प्रयास और अपहरण के कई मामले दर्ज हैं। बदमाश सुनील उर्फ लाला बहादुरगढ़ के गैंगस्टर अनिल गंजे का सगा भाई है। उसने सितंबर 2017 को बहादुरगढ़ के झज्जर रोड पर कांग्रेसी नेता मोनू जून की हत्या की वारदात को अंजाम दिया था।

सुनील ने अपनी गैंग के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर बहादुरगढ़ के झज्जर रोड पर कांग्रेस के युवा नेता मोनू जून की सरे राह हत्या कर दी थी। मोनू जून को 27 गोलियां लगी थी। उन्होंने बताया कि कांग्रेसी नेता मोनू जून से कुख्यात बदमाश अनिल गंजे ने 36 लाख रूपय की फिरौती की मांग की थी और फिरौती नहीं मिलने पर मोनू जून की हत्या कर दी गई थी।

इस वारदात में शामिल दर्जनभर बदमाशों में से अब तक पुलिस 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। लेकिन अभी भी कई बदमाश पुलिस की गिरफ्त से बाहर चल रहे हैं।

डीएसपी कप्तान सिंह ने बताया कि आरोपियों पर हत्या, हत्या के प्रयास और अपहरण जैसे कई मामले दर्ज हैं। बहादुरगढ़ के एक निजी संस्थान के लेक्चरार के बहुचर्चित अपहरण के बाद फिरौती लेने का भी केस इनपर दर्ज है।

उन्होंने बताया कि आरोपियों को आज कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। इस वारदात में प्रयोग किए गए हथियार और गाड़ी आरोपियों से अभी बरामद करन बाकी है। पुलिस को पूछताछ में दोनों आरोपियों से और भी कई बड़ी वारदातों का खुलासा होने की उम्मीद है। जल्द ही पुलिस इनके अन्य साथियों को भी गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजने का काम करेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *