Home Breaking हरियाणा पुलिस के राहगिरी कार्यक्रम के बजट में नहीं हुई गड़बड़ी, जारी किया स्पष्टीकरण

हरियाणा पुलिस के राहगिरी कार्यक्रम के बजट में नहीं हुई गड़बड़ी, जारी किया स्पष्टीकरण

0
0Shares

Sahab Ram, Yuva Haryana

हरियाणा पुलिस ने ‘राहगिरी‘ को लेकर 18 फरवरी, 2020 को कुछ समाचार पत्रों में प्रकाशित की गई खबर को दुर्भावनापूर्ण, गलत, आधारहीन और तथ्यों से परे बताते हुए इस संबंध में वास्तविकता की व्याख्या कर एक विस्तृत स्पष्टीकरण जारी किया है।

हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज इस बात पर पीड़ा जताई कि पुलिस-पब्लिक कनेक्ट के इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम को ठेस पहुँचाने के साथ-साथ पुलिस प्रशासन की छवि को धूमिल करने के लिए एकतरफा और तथ्यात्मक रूप से गलत कहानी रची गई।

यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि समालखा के एक आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा मीडियाकर्मियों के साथ भ्रामक जानकारी साझा करने के कारण मीडिया संगठनों को इस फर्जी खबर का षिकार होना पड़ा। दुर्भाग्यवष पुलिस से कमेंट लिए बिना ही विभिन्न मीडिया हाउस द्वारा इस खबर को उजागर किया गया।

तथ्यात्मक आकंड़ों के अनुसार, हरियाणा पुलिस द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 में तीन किस्तों के माध्यम से पानीपत जिले को 6 लाख 40 हजार रुपये की राशि आवंटित की गई थी। 2 लाख 30 हजार रुपये की पहली किस्त 8 अप्रैल 2019 को जारी की गई, 1 लाख 80 हजार रुपये की दूसरी किस्त 8 जुलाई 2019 को और 2 लाख 30 हजार रुपये की तीसरी किस्त 14 अक्तूबर 2019 को राहगिरी कार्यक्रम के लिए जारी की गई। जारी की गई राषि में से 6 लाख रुपये की राशि पहले ही खर्च या उपयोग की जा चुकी है।

23.04.2019 को आरटीआई कार्यकर्ता ने राहगिरी कार्यक्रम के संबंध में आरटीआई अधिनियम के तहत जानकारी मांगी थी। इस संबंध में पानीपत पुलिस द्वारा प्रदान की गई लिखित जानकारी सत्य है क्योंकि जिला पुलिस को पुलिस मुख्यालय से 23.04.2019 तक केवल 2 लाख 30 हजार रुपये प्राप्त हुए थे जोकि वित्तीय वर्ष 2019-20 में भी 23.04.2019 तक उपयोग नहीं हुए। हालांकि, आरटीआई अधिनियम के तहत आवेदक के अनुरोध के बाद, वित्तीय वर्ष के दौरान 4 लाख 10 हजार रुपये की कुल राषि अगली दो किस्तों में जारी की गईं।

प्रवक्ता ने सम्मानित मीडिया संगठनों से इस तरह के भ्रामक समाचार प्रकाशित करने से पहले संबंधित अधिकारियों से तथ्यों और आंकड़ों को सत्यापित करने का भी आग्रह किया।

उल्लेखनीय है कि राहगिरी, जो सकारात्मक सहयोग का एक मंच भी है, को हरियाणा सरकार द्वारा लोगों के जीवन में खुशी बढ़ाने के साथ-साथ समाज में भाईचारे की भावना को मजबूत करने के लिए शुरू किया गया था। राहगिरी राज्य सरकार का एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है जिसे जिला उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षकों  के माध्यम से लागू किया जा रहा है। राहगिरी कार्यक्रम का बजट पुलिस विभाग को प्रदान किया जा रहा है, जो इसे जिलों को आवंटित करता है।

कार्यक्रम का उद्देश्य समाज के सभी वर्गों के लोगों को एक साझा मंच पर लाते हुए एक सकारात्मक व आनंदमय माहौल बनाकर उन्हें मादक पदार्थों के दुरुपयोग, पर्यावरण और जल संरक्षण जैसे अहम मुद्दों पर जागरूक करना है। इसकी शुरुआत के बाद से, यह कार्यक्रम बहुत लोकप्रिय रहा है और अब तक लाखों लोगों ने इसमें भागीदारी की है। राहगिरी कार्यक्रम रविवार को आयोजित किया जाता है ओर प्रत्येक जिले को हर महीने दो राहगिरी कार्यक्रम आयोजित करने होते हैं। डीसी और एसपी दोनों को इसमें भाग लेना होता है। राहगिरी को लेकर अब तक लोगों की प्रतिक्रिया जबरदस्त रही है।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

8 जून से खुलेंगे मॉल्स, रेस्टॉरेंट और मंदिर, केंद्र सरकार ने जारी किए ये दिशा-निर्देश

Yuva Haryana, Chandigarh कोरोना वाय&…