Home Breaking हरियाणा पुलिस के जवानों ने घर में घुसकर की गुंडागर्दी, गिरफ्तार करने गए आरोपी के घर तानी पिस्तौल

हरियाणा पुलिस के जवानों ने घर में घुसकर की गुंडागर्दी, गिरफ्तार करने गए आरोपी के घर तानी पिस्तौल

0
0Shares

Sanjiv Saini, Yuva Haryana
Rania, 29 July, 2018

धोखाधड़ी में दर्ज के मामले में गांव कुत्ताबढ़ में गिरफ्तार करने गई पुलिस पार्टी के साथ हुई नोकझोंक के बाद पुलिस अधिकारी द्वारा मौके पर पुलिस पिस्तौल निकालने को लेकर मामला गरमाया। रानियां थाना प्रभारी ने बताया की सहायक रजिस्ट्रार सहकारी समिति सिरसा ने पुलिस अधीक्षक सिरसा को एक पत्र जारी करके 28 फरवरी 2018 को जसपाल सिंह पुत्र गुरुदेव सिंह निवासी कुत्ताबढ़ द्वारा दी गई सीएम विंडो के आधार पर कार्यालय ने जांच करके मलेंका प्राथमिक सहकारी समिति लिमिटेड के तत्कालीन प्रबंधक व प्रबंधक कमेटी द्वारा मिलीभगत करके लाखों रुपए के पेड़ बिना विभागीय अनुमति के काटे गए और बिना अनुमति के बेचकर राशि का गबन कर कार्रवाई रजिस्टर में गलत प्रस्ताव डालकर फर्जी हस्ताक्षर करके काफी गमन मामले में निरीक्षण सहकारी समिति रानियां द्वारा प्रस्तुत जांच रिपोर्ट कार्यालय में दी गई। जिसमें दोषियों के विरुद्ध कमेटी सदस्य दोषी पाए गए। जिनके विरुद्ध सदर थाना सिरसा में 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उसी मामले को लेकर मलेंका चौकी इंचार्ज त्रिलोक सिंह को गिरफ्तार करने उनके घर पर गया था।

https://youtu.be/76wdgOAGuvM

क्या कहते है थाना प्रभारी दलेराम
वही रानियां थाना प्रभारी दलेराम ने बताया कि एएसआई जगजीत सिंह की शिकायत पर रानियां थाने में त्रिलोक सिंह व 10 से12 अन्य महिला व पुरूष के खिलाफ
धारा 147,149,186,224, 225, 270, 259,342, 359बी,511 के तहत मामला दर्ज है। थाना प्रभारी ने बताया कि दूसरे पक्ष ने भी देर रात डीएसपी ऐलनाबाद
को शिकायत दी थी जो शिकायत उन्हें दोपहर बाद प्राप्त हुई और उस शिकायत की भी जांच की जा रही है। जांच के बाद कानूनी कार्रवाई की जाए।

त्रिलोक सिंह के भाई ने भी एएसआई के खिलाफ  दी शिकायत वही त्रिलोक सिंह के भाई बलकार सिंह ने भी थाना रानियां में शिकायत दी है की जबरदस्ती पुलिस कर्मचारी बिना वर्दी उनके घर में घुसे और उसके भाई को पिस्तौल की नोक पर किडनैप करने की कोशिश की और उनके परिवार के लोगों व महिलाओं के साथ गाली.गलौज की और पिस्तौल दिखाकर जान से मारने की धमकी दी।

क्या कहते है मलेंका चौकी इंचार्ज
वही इस मामले में एएसआई जगजीत सिंह ने बताया कि उन्होंने त्रिलोक सिंह को 26 जुलाई तक पेश होने के लिए नोटिस दिया था इसके भी पेश नहीं हुए जिसके
बाद उन्होंने 28 जुलाई को भी उनसे फोन पर बात की है और उन्होंने कहा कि वह सिरसा की ग्रेसियस कमेटी की बैठक में अपने मामले को हल करवाने का
प्रयास करेंगे लेकिन वहां इन का मामला को कैंसिल न होने के बाद ही वह अपने तीन साथियों के साथ उन्हें गिरफ्तार करने गए थे और उन्होंने उनके साथ हाथापाई की है और पुलिस कर्मचारियों की वर्दी फाड़ी है उनसे रिवाल्वर छीनने का प्रयास किया जिसके बाद उन्होंने उनसे सरकारी रिवाल्वर को वापस लिया और उन पर लगाए गए नशे करने के आरोप निराधार है वह अमृतधारी सिख पंथ से है और अमृतधारी कभी भी नशा नहीं करते।

बार एसोसिएशन ने दिया थाना प्रभारी को शिकायत
वही इस मामले में ऐलनाबाद बार एसोसिएशन के प्रधान रघुवीर सिंह जोसन की अध्यक्षता में सभी वकीलों ने रानियां थाना प्रभारी को एक शिकायत दी है जिसमें उन्होंने कहा है कि वकील के साथ दुर्व्यवहार करने वाले एएसआई के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाए। वही वकील के साथ दुर्व्यवहार करने
के मामले को लेकर कल सभी वकील  ऐलनाबाद कोर्ट में काम का बहिष्कार द्वारा काम का बहिष्कार किया जाएगा।

पुरानी रंजिश को लेकर चल रहा है मामला
वहीं त्रिलोक सिंह के भाई बलकार सिंह ने बताया कि पुरानी रंजिश को लेकर यह मामला चल रहा है उन्होंने बताया कि इससे पहले गांव कुत्ताबढ़ की पूर्व स्र्वण कौर पर मनरेगा में सरकारी आदमियों व मरे हुए आदमियों के नाम से पैसा गमन करने को लेकर उन्होंने शिकायत दर्ज कराई थी। जिस शिकायत पर उनके खिलाफ मामला दर्ज हुआ और उन्होंने गमन की गई राशि को भी बीडीपीओ कार्यालय में जमा कराई थी जिसकी जिसकी रंजिशवंश शिकायतकर्ता जसपाल सिंह ने मलेंका
प्राथमिक कृषि सहकारी लिमिटेड में नए भवन का निर्माण के लिए पेड़ कटवाए जाने की रंजिश शिकायत की सीएम विंडो लगवाई है और राजनीतिक दबाव से इस
मामले में उनके खिलाफ एफ आईआर दर्ज कराई गई है इस मामले में पूरी जांच के लिए वे तैयार है लेकिन इससे पहले उनके घर पर घुसकर गुंडागर्दी करने वाले
पुलिसकर्मी के खिलाफ मामला दर्ज किया जाना चाहिए। उन्होंने मौके पर वहां सरकारी रिवाल्वर तानकर फ ायर भी किया है जिसकी उच्च स्तरीय जांच होनी
चाहिए।

क्या था मामला
28 फ रवरी 2018 को जसपाल सिंह पुत्र गुरदीप सिंह निवासी कुत्ताबढ़ ने सीएम विंडो में शिकायत दर्ज कराई कि मलेंका प्राथमिक कृषि सहकारी लिमिटेड में प्रबंधक व प्रबंधक कमेटी द्वारा मिलीभगत करके लाखों रुपए के पेड़ बिना विभागीय अनुमति के काटे कर और बिना अनुमति के पेड़ बेचकर राशि का गबन किया गया है। जिसकी शिकायत पर जांच के बाद सहायक रजिस्ट्रार सहकारी समिति सिरसा द्वारा पुलिस अधीक्षक को एक पत्र जारी कर इन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करने के आदेश दिए गए थे। जिस पर सिरसा के सदर थाना में 8 मार्च 2018 को बलदेव सिंह तत्कालीन प्रबंधक, त्रिलोक सिंह प्रधान, हरजिंदर सिंह उपप्रधान, निहालचंद कमेटी सदस्य, इकबाल सिंह कमेटी सदस्य,साहब सिंह कमेटी सदस्य, बलजिंदर सिंह कमेटी सदस्य, सज्जन कुमार कमेटी सदस्य, कृष्णा देवी कमेटी सदस्य के खिलाफ बिना विभागीय अनुमति व वन विभाग से बिना कीमत निर्धारित करवाएं परिषद में खड़े पेड़ काटकर बेचकर सरकारी संपत्ति का दुरुपयोग किया जाने और समिति को आर्थिक नुकसान पहुंचाया जाने को लेकर इन लोगों के खिलाफ धारा 409, 420, 467, 468 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अब गांव के मकानों पर भी आसानी से मिलेगा Bank Loan, सरकार की ये है योजना-

Yuva Haryana News Chandigarh, 8 August, 2020 अब देश क&…