फ़िर गिरफ़्त में आया ख़ाकी वाला रिश्वतखोर, दो हज़ार की घूस लेते लाल रंग से रंग गये हाथ

बड़ी ख़बरें हरियाणा

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से सीधे टकराव के बाद सुर्ख़ियों में आई पुलिस अधीक्षक संगीता कालिया ने जब से रेवाड़ी में पदभार संभाला है, तब से उन्होंने पुलिस कर्मियों को ईमानदार करने के लिए अनेक प्रयास किये, लेकिन रेवाड़ी पुलिस के ज़्यादातर पॉलिसियां हैं कि कोई भी सबक लेने को तैयार नहीं है। एक के बाद एक विजिलेंस टीम द्वारा धरे जा रहे पुलिस कर्मियों को देखकर ऐसा लगता है कि थानों में अभी भी लेन देन का सिलसिला नहीं थमा है। इसी के चलते आज फिर डहीना पुलिस चौकी में तैनात एक हवलदार को सीएम उड़नदस्ते ने दो हजार रूपये लेते रंगे हाथों गिरफ़्तर कर लिया।

डहीना पुलिस चौकी के हवलदार ने शिकायतकर्ता से FIR दर्ज करने के नाम पर 5 हज़ार रुपये मांगे। शिकायतकर्ता ने एक हज़ार रुपये पहले ही दे दिए। 2 हज़ार रुपये आज देने थे, लेकिन इससे पहले शिकायतकर्ता ने इसकी सूचना सीएम उड़न दस्ते को दे दी।

जैसे ही रिश्वतखोर पुलिस वाले ने रकम को हाथों में लिया, वैसे ही उड़नदस्ते ने छापा मारकर रकम बरामद कर ली। मौके पर जैसे ही आरोपी के हाथ धुलाये गये तो रिश्वत से लाल हो गए। यह पहला मामला नहीं है। अभी कुछ दिन पूर्व ही बावल थाने में तैनात एक ASI को उड़नदस्ते ने रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ़्तर किया था। लगातार ऐसे मामले सामने आने के बाद यह तो तय है कि जिलों के थानों में लेन देन का खेल रुक नहीं पाया है।

इस मामले में शिकायतकर्ता ने पहले जब एक हजार रूपये दिए थे तो उसकी वीडियो बना ली थी। शिकायतकर्ता का आरोप है कि पकड़ा गया पुलिसकर्मी ही नहीं, चौकी इंचार्ज भी कमीशन की मांग कर रहा था, जिसके सबूत शिकायतकर्ता के पास है। अब देखना होगा की पुलिस अधीक्षक इस चौकी इंचार्ज के ख़िलाफ़ भी क्या कोई कार्रवाई करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *