अलॉटी प्लॉट न लेने पर भी जमा राशि वापिस लेने का हकदार- हाईकोर्ट

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
  • पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट का अहम फैैसला

  • शहरी विकास प्राधिकरण की नीति को किया रद

  • प्लॉट अलॉट होने के बाद जमा राशि को जब्त करने का था प्रावधान

  • याचिकाकर्ताओं की राशि वापिस करने के दिए आदेश

Yuva Haryana
Chandigarh, 04 Dec, 2019

पंजाब एंव हरियाणा हाई कोर्ट के द्वारा शहरी विकास प्राधिकरण की नीति को रद कर दिया गया। बता दें कि इस नीति के तहत प्लॉट अलॉट के लिए एक विशेष प्रवाधान बनाया गया था जिसमें अगर प्लॉट अलॉट होने के बाद अलॉटी प्लॉट लेने से मना कर देता है तो उसकी जमा राशि को जब्त करने का प्रावधान था।

एचएसवीपी ने कोर्ट को बताया कि एचएसवीपी प्रशासक के द्वारा 2018  में एक नीति बनाई गई थी। जिसके तहत ड्रा निकलने के बाद अलॉटी की जमा राशि को वापिस नही किया जा सकता।

इस पर याची के वकील संदीप शर्मा ने बताया कि यह नीति प्रशासक के स्तर पर व आवेदन मांगने के बाद लाई गई है जो कानून सही नहीं है।वहीं याची के वकील की दलील सुनने के बाद हाई कोर्ट ने एचएसवीपी की नीति को खारिज करते हुए सभी याचिकाकर्ता की जमा राशि ब्याज समेत वापस करने का आदेश जारी किया।

बता दें कि इस मामले में दो अलग- अलग याचिकाकर्ता ने रोहतक व पिहोवा में प्लॉट के लिए आवेदन किया था। वहीं दो साल के बाद ड्रा निकला और याची ने कुल राशि का दस प्रतिशत जमा करा दिया, लेकिन ड्रा के तीस दिन बाद ही याचिकाकर्ता ने प्लॉट लेने से इंकार कर दिया और अपनी जमा राशी वापस करने की मांग की थी। जिसमें हाईकोर्ट ने याची के वकील की दलील सुनने के बाद याचिकाकर्ता की जमा राशि को ब्याज समेत वापिस करने के आदेश जारी किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *