साइबर अटैक से बचने के लिए बिजली निगम अपनाएगी “क्लाउड सेवा प्रणाली”

चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryan

Haryana, 31-03-2018

हरियाणा बिजली वितरण निगम के डेटा पर साइबर अटैक के बाद बिजली विभाग अब चौकन्ना हो गया है। इसके लिए विभाग ने एक योजना बनाई है, जिसके तहत विभाग का पूरा डेटा थर्ड पार्टी डेटा सेंटर में स्टोर किया जाएगा, ताकि डेटा हैक के तमाम रास्तों को बंद किया जा सके। बिजली विभाग के पूरे डेटा को इंट्रीग्रेट करके क्लाउड बेस्ड सिस्टम बनाया जाएगा।

क्लाउड बेस्ड सिस्टम में इंटरनेट आधारित प्रक्रिया और कंप्यूटर ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल किया जाता है। गूगल एप्स क्लाउड कंप्यूटिंग का एक उदाहरण है, जो बिजनेस ऐप्लीकेशन ऑनलाइन मुहैया कराता है। वेब ब्राउजर का इस्तेमाल कर इस तक पहुंचा जा सकता है। सारा सॉफ्टवेयर वेब सेवाओं के जरिए मिलेगा, जो पूरी तरह सुरक्षित होगा।

सरकार दो महीने में क्लाउड बेस्ड सिस्टम को शुरू कर देगी। अभी तक विभाग का डेटा अलग- अलग स्टोर किया जाता था। इसी का फायदा उठा कर हैकर्स ने औद्योगिक क्षेत्र के चार हजार उपभोक्ताओं का डेटा करप्ट कर दिया।

हालांकि राहत की बात यह रही कि विभाग के पास डेटा का बैकअप मौजूद था, इसलिए ज्यादा दिक्कतें नहीं आईं। बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी.के दास ने कहा कि ऑटोमेटिक मीटर रीडिंग सिस्टम से करीब चार हजार औद्योगिक उपभोक्ताओं की बिलिंग की जा रही है। इस पर 21 मार्च को साइबर हमला हुआ। अब क्लाउड सेवा प्रणाली अपनाई जाएगी, जो  तकनीकी रूप से बेहतर प्रणाली है। मई से क्लाउड सेवा सिस्टम काम शुरू कर देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *