अस्पताल के गेट पर फिर एक गर्भवती महिला की हुई डिलीवरी, स्वास्थ्य सेवाए न मिलने से नवजात की मौत

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Manu Mehta, Yuva Haryana

Gurugram, 25 April, 2018

एक ओर हरियाणा सरकार बेहतर स्वास्थ्य सेवाए देने का दावा ठोकते नही थक रही और बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर करोड़ो रुपये खर्च भी किये जा रहे है।

इसके बावजूद गुरुग्राम के नागरिक अस्पताल से बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। जहां फिर एक गर्भवती महिला ने अस्पताल के गेट पर ही शिशु को जन्म दिया। लेकिन स्वास्थय सेवाएं न मिलने से शिशु की मौत हो गई।

सोनिया नामक महिला को प्रसवपीड़ा होने के चलते उसके परिजन गुरुग्राम के नागरिक अस्पताल में लेकर पहुचे थे, लेकिन परिजनों की माने तो अस्पताल स्टाफ ने आते ही सोनिया को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रैफर कर दिया|

परिजनों ने अस्पताल के स्टाफ को बताया भी कि बच्चे का हाथ बाहर आ गया है इसलिए केस को यही हैंडल कीजिये, लेकिन अस्पताल स्टाफ ने उनकी एक न सुनी।

जैसे ही सोनिया के परिजन उसे बाहर खड़ी एम्बुलेंस में बिठाने लगे तब तक बच्चे का आधा धड़ बाहर आ चुका था और सोनिया की सास ने बच्चे को बाहर खीच लिया, लेकिन बच्चे की मौत हो गई|

पीड़ित के परिजनों ने अस्पताल स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि अस्पताल स्टाफ द्वारा उन्हें सहयोग नही दिया गया |

वहीं इस मामले में अस्पताल के प्रधान चिकित्सा अधिकारी ने अस्पताल स्टाफ की लापरवाही के आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि पीड़ित परिवार जब सोनिया को अस्पताल लेकर पहुंचा तो उस समय बच्चे का हाथ बाहर था और बच्चे की मौत हो चुकी थी।

इसलिए बच्चे को ऑपरेशन के द्वारा बाहर निकालने की जरूरत थी। लेकिन अस्पताल में गायने सर्जन न होने के कारण उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रैफर किया गया, लेकिन बाहर तक पहुचंते ही डिलीवरी हो गई |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *