हरियाणा की हर सड़क के हर गड्ढे को भरने की तैयारी, harpath एप पर शिकायत के 4 दिन में कार्रवाई की गारंटी

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 22 May, 2018
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य में सड़कों के निर्माण व रख-रखाव का कार्य देख रहे, पांच विभागों नामत: लोक निर्माण, शहरी स्थानीय निकाय, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड तथा हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं ढांचागत विकास निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे हरपथ एप्प पर प्राप्त शिकायतों के निपटान के लिए 96 घंटों की निर्धारित सीमा का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित करें। हरियाणा को एक गड्ढा मुक्त  राज्य बनाने की सरकार की प्रतिबद्धता है।
मुख्यमंत्री आज यहां हरपथ हरियाणा एप्प पर प्राप्त हुई शिकायतों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में लोक निर्माण मंत्री राव नरवीर सिंह व शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन भी उपस्थित थीं।
बैठक में मुख्यमंत्री को इस बात से अवगत करवाया गया कि 21 मई, 2018 तक हरपथ हरियाणा एप्प पर  सड़कों के गड्ढों से सम्बन्धित 21500  शिकायतें प्राप्त हुई जिनमें  लोक निर्माण विभाग की 4532, हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड की 2700 तथा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की 230 शिकायतें, शहरी स्थानीय निकाय विभाग की 5989 शिकायतें शामिल हैं। इनमें से सम्बन्धित विभागों द्वारा 70 प्रतिशत शिकायतों का त्वरित निपटान किया गया, जबकि 29 प्रतिशत शिकायतें रद्द की गई है। 

बैठक में इस बात की भी जानकारी दी गई कि प्रदेश में लगभग 22 हजार किलोमीटर लम्बी सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाया जाना है। राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों की स्थिति की समीक्षा करते समय मुख्यमंत्री ने एचएसएएमबी को सड़कों की गुणवत्ता में सुधार के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए है क्योंकि हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड द्वारा बनाई गई सड़कों की गुणवत्ता की शिकायत अधिकांश प्राप्त हो रही है।
इस पर बोर्ड के मुख्य प्रशासक मनजीत सिंह बराड़ ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि छ: कर्म  तक की सड़कों  का कार्य बोर्ड द्वारा लोक निर्माण (भवन और सड़क) विभाग के मानदण्डों के अनुरूप किया जाता है। संबंधित विभागों को मुकदमेबाजी और निजी सड़कों को छोडक़र सड़कों से संबंधित सभी शिकायतों का निपटान करना होगा। इस बात की भी जानकारी दी गई कि ‘हरपथ एप्प’ पर एक अनूठी विशेषता भी उपलब्ध कराई गई है, जिसके तहत एक शिकायतकर्ता ने किसी विभाग को सड़क की स्थिति के बारे में शिकायत की तो उसे संबंधित विभाग को स्थानांतरित किया जा सकता है।
बैठक में इस बात की भी जानकारी दी गई कि गर्म मिश्रण सामग्री का उपयोग करके पैचवर्क का कार्य आमतौर पर वर्ष में दो बार, मानसून से पहले गर्मियों में तथा बाद में सर्दियों में किया जाता है। विभाग राज्य में गड्ढों के प्रभावी समाधान के रूप में स्प्रे इंजेक्शन ठंडा मिश्रण तकनीक अपनाने पर विचार कर रहा है।
मुख्यमंत्री ने हरियाणा शड्युड रेट संशोधन करने के भी अधिकारियों को निर्देश दिए। लोक निर्माण विभाग के अभियंता प्रमुख राकेश मनौचा ने अवगत करवाया कि 25 वर्ष पहले  निर्धारित शड्युड रेट चल रहे हैं जिन्हें बाद में वर्ष 2001 में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय के मानदण्डों के अनुरूप तय किया गया।
Read This News Also>>>>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *