12 साल से कम उम्र की बच्चियों संग दुष्कर्म के आरोपियों को मिलेगी मृत्युदंड, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें शख्सियत सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Chandigarh, 13 August, 2018

12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म करने वाले आरोपी अब बच नहीं पाएंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मृत्युदंड की मंजूरी दे दी है। राष्ट्रपति की तरफ से अब अपराध कानून (संशोधन) अधिनियम, 2018 को मंजूरी दे दी गई है।

जिसके तहत अब 12 साल से कम उम्र की लड़कियों से दुष्कर्म करने वालों को मौत की सजा सुना दी जाएगी। बता दें कि यह संशोधन 21 अप्रैल को जारी अपराध कानून संशोधन अध्यादेश की जगह लेगा।

देश- प्रदेश में नाबालिगों से बढ़ रहे दुष्कर्म मामले को लेकर यह फैसला लिया गया है। मामला तब ज्यादा बढ़ गया जब कठुआ में नाबालिग व उन्नाव में एक महिला संग दुष्कर्म हुआ, तब इस अध्यादेश को जारी किया गया था।

जिसको अपराध कानून (संशोधन) अधिनियम, 2018 नाम दिया गया था और यह 21 अप्रैल से लागू माना जाएगा। इस अधिनियम से भारतीय दंड संहिता, भारतीय साक्ष्य अधिनियम 1872, दंड प्रक्रिया संहिता 1973 और यौन अपराधों से बच्चों के कानून 2012 में भी संशोधन होगा।

इस संशोधन को पहले संसद से मंजूरी मिली थी और अब राष्ट्रपति ने भी इसे मंजूरी दे दी है, जिसके तहत 12 साल से कम उम्र की बच्ची से दुष्कर्म करने पर मृत्युदंड व किसी महिला से दुष्क्रम के मामले में सजा 7 साल से बढ़ाकर 10 साल भी कर दी गई है और आजीवन तक हो सकती है।

नये कानून में 16 साल से कम उम्र की लड़की से दुष्कर्म करने पर 10 साल से सजा बढ़ाकर 20 साल कर दी दी गई है और आजीवन तक हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *