134ए के तहत नि:शुल्क दाखिले के नियम में अभिभावकों को धोखा देने में सफल हो रहे प्राईवेट स्कूल

चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

Indervesh Duhan, Yuva Haryana

Bhiwani, (09 April 2018)

आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को प्राईवेट स्कूलों में स्कूल शिक्षा नियमावली की धारा 134ए के तहत नि:शुल्क दाखिला देने के नाम पर प्राईवेट स्कूल सत्र 2018-19 में फिर से लाभार्थी छात्रों को धोखा देने में कामयाब होते नजर आ रहे हैं। क्योंकि 11 अप्रैल को नियमावली 134ए के तहत दाखिला फॉर्म भरने की अंतिम तिथि है।

जबकि इन दाखिलों का विरोध कर रही प्राईवेट स्कूल वेलफेयर एसोसिएशन का मुख्यमंत्री से बातचीत के बाद खाली वेकेंसियों की लिस्ट आज दोपहर तक उपलब्ध करवाई गई। ऐसे में प्राईवेट स्कूलों में 10% सीटों पर मात्र 2 दिन में दाखिला कैसे होगा, यह समझ से परे की बात है।

प्रदेश के मुखिया मनोहर लाल खट्टर द्वारा नियमावली 134ए के तहत होने वाले एक्जाम की मैरिट लिस्ट में न्यूनतम 55% अंक पाने में ढ़ील देकर 33% किए जाने की घोषणा के बाद प्राईवेट स्कूलों में दाखिला लेने के इच्छुक छात्रों की संख्या बढ़ी है।

जबकि अधिकत्तर छात्र अपने अभिभावकों के माध्यम से अब तक प्राईवेट स्कूलों द्वारा खाली दर्शायी गई सीटों के विरूद्ध फॉर्म भर चुके हैं। ऐसे में अंतिम तिथि के दो दिन पहले दिखाई गई खाली सीटें खाली ही रहने की उम्मीद है। जिसके चलते प्राईवेट स्कूल अपने खेल में कामयाब होते नजर आ रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *