Home Breaking किलोमीटर स्कीम बसों का विरोध शुरू, रोडवेज यूनियनों ने गिनवाए घाटे

किलोमीटर स्कीम बसों का विरोध शुरू, रोडवेज यूनियनों ने गिनवाए घाटे

0

Yuva Haryana, Chandigarh

हरियाणा रोडवेज वर्कर्स यूनियन सम्बंधित सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सरबत सिंह पूनिया, राज्य कार्यालय सचिव जयकुंवार दहिया एवं केन्द्रीय कमेटी सदस्य हिम्मत राणा ने मुख्यालय से जारी ब्यान में बताया कि आज हरियाणा सरकार जनता के बीच वाहवाही लूटने के लिए रोडवेज बसों के रूप में किलोमीटर स्किम के तहत रोडवेज बसों के रूप में रंग व हरियाणा राज्य परिवहन लिखवा कर भोलीभाली जनता को तो धोखा देने का प्रयास कर ही रहीं हैं।

वहीं दूसरी ओर हरियाणा रोडवेज के विभाग को भी जगह-जगह दुर्घटना जो किलोमीटर स्किम के तहत चलने वाली बसों के बिना प्रशिक्षित चालक के द्वारा किए जा रहे हादसों के कारण हरियाणा रोडवेज विभाग को बदनाम करने काम किया जा रहा है इसका जीता जागता उदाहरण कैथल में बस व कार के बीच हुआ हादसा ताजा उदाहरण हैं। हरियाणा रोडवेज व हरियाणा सरकार के उच्च अधिकारियों द्वारा किलोमीटर स्किम की बसों को लम्बे मार्गों पर चलाने काम तेजी से अपनाया जा रहा है जबकि नियमानुसार इन बसों को एक दिन में मात्र तीन सौ किलोमीटर तय करना ही तय किया गया था।

परन्तु आज हरियाणा रोडवेज के लम्बे मार्गों पर जयपुर, कोटा, सिकर, चुरू आदि मार्गों पर जहां रोडवेज विभाग द्वारा लिए गए परमिटों पर चलाने का काम तेजी से किया जा रहा है इस कारण हरियाणा रोडवेज की बसों को परिचालकों की कमी के कारण अधिकतर बसें कार्यशालाओं में खड़ा कर दिया गया है वहीं हरियाणा रोडवेज की कर्मशाला में लगे डीजल पम्प से डीजल देना आरंभ कर दिया गया है। इस बारे पिछले महीने कर्मचारियों के बीच काफी चर्चा रही कि हमारे यहां से डीजल देना विभाग के लिए ठीक नहीं है क्योंकि किलोमीटर स्किम की बसें विभाग के लम्बे मार्गों पर चलाने से हरियाणा रोडवेज का वजूद ही खत्म होने के कगार पर नजर आने लगा है।

1. किलोमीटर स्किम पर चलने वाली बसों को एक दिन में मात्र तीन सौ किलोमीटर तय करना है, परन्तु अधिकारी के साथ मिलीभगत कर एक बस एक दिन में 500 से लेकर 600 तक तय कर रहीं हैं।

2. हरियाणा सरकार द्वारा रोडवेज बस स्टैंड पर फ्री पार्किग सेवा का लाभ दिया जा रहा है।

3. हरियाणा सरकार द्वारा हर बस को जी एस टी में भारी छूट दी जा रही है।

4. किलोमीटर स्किम की बसों पर हरियाणा रोडवेज लिखवा कर व हरियाणा रोडवेज की बसों जैसा रंग व निशान देकर जनता को धोखाधड़ी करना सामने आया है उदहारण यह है कि दुर्घटना तों किलोमीटर स्किम की बसों के बिना प्रशिक्षित चालक करते हैं बदनाम हरियाणा रोडवेज विभाग होता है।

5. जब से किलोमीटर स्किम की बसों का संचालन हुआ है विभाग में कार्यरत परिचालक को इन बसों पर कार्यरत किया गया है इस कारण हरियाणा रोडवेज की बसों को कर्मशाला में खड़ा कर चालक को आंतरिक विश्राम करने के लिए बेठा दिया जाता है। यूनियन मांग करती है कि जनता को हरियाणा सरकार परिवहन सेवा का लाभ देना चाहतीं हैं तो पहले विभाग में बसों के नोरम के अनुसार चालक, परिचालक,लिपिक एवं कार्यशालाओं के कर्मचारियों की भर्ती करी जाएं व विभाग में 14 हजार सरकारी बसें शामिल की जाए ताकि जनता को बेहतर व सुरक्षित परिवहन सेवा मिलने के साथ बेरोजगारों को स्थाई रोजगार मिल सके।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर सील कहने को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, अनिल विज ने जारी किया नोटिस

Yuva Haryana, Chandigarh दिल्ली से सटे हरियाणा के इलाकों में कोरोना के बढते केसों को लेकर …