पत्नी को नकदी की बजाय अनाज, दूध और सामान देगा पति, हाईकोर्ट में सुनाया गया फैसला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 19 July  2019

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने गुजारा भत्ते के मामले में एक अनोखा फैसला सुनाया है। दरअसल, भिवानी के एक व्यक्ति ने कोर्ट में अर्जी दायर कर कहा था कि उसकी नौकरी छूट गयी है और वह बेरोजगार है। इसलिए वह उससे अलग रह रही पत्नी को गुजारा भत्ता नहीं दे सकता। लेकिन इसके बदले वह पत्नी को उसका राशन और कपड़े दे सकता है।

जज ने पूछा कि कितना राशन दे सकते हो? जज के इस सवाल पर उस व्यक्ति ने कहा कि वह हर चार महीने में पत्नी को तीन जोड़ी सूट, 20 किलो चावल, 15 किलो गेहूं, 5 किलो देशी घी, 5 किलो चीनी, 5-5 किलो तरह- तरह की दाले और रोजाना 2 लीटर दूध भी देगा। व्यक्ति की यह अनोखी मांग सुनकर जज राजी हो गए और इसकी रिपोर्ट हलफनामे के रूप में कोर्ट में दायर करने का आदेश दिया।

इस मामले की अगली सुनवाई 25 जुलाई को होगी। बता दें कि भिवानी के रहने वाले इस व्यक्ति का पत्नी के साथ विवाद चल रहा है। दोनों अलग रह रहे है। पत्नी की याचिका पर कोर्ट ने पति को उसके वेतन से तय रकम गुजारा भत्ते के रूप में पत्नी को देने के लिए कहा था। लेकिन पति ने अपनी अर्जी में 15 जुलाई को कोर्ट के समक्ष कहा कि वह इन दिनों बेरोजगार है और वह पत्नी को गुजारा भत्ता नहीं दे सकता लेकिन उसके बदले वह पत्नी को राशन और कपड़े दे सकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *