हरियाणा कांग्रेस को एकजुट करने बस में सवार हुए राहुल गांधी, प्रधानमंत्री निशाने पर रहे

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Karnal, 29 March, 2019

हरियाणा दौरे पर पहुंचे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी सरकार को जमकर कोसा। इस दौरान उनके निशाने पर खासतौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे। उन्होने अपने भाषणों के दौरान जीएसटी, किसानों के मुद्दों और चौकीदार को लेकर कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने की कोशिश की।

राहुल गांधी का पूरा भाषण पढिये

“राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे सामने 2019 का चुनाव है, दो विचारधाराओं की लड़ाई है, एक तरफ बीजेपी, आर.एस.एस., नरेन्द्र मोदी जी। दूसरी तरफ – कांग्रेस पार्टी। नरेन्द्र मोदी जी ने पिछले 5 साल में हरियाणा से, हिंदुस्तान से एक के बाद एक, एक के बाद एक वायदे किए। जहाँ जाते हैं, नफरत फैलाते हैं, बिना नफरत फैलाए नरेन्द्र मोदी जी कुछ नहीं कह सकते, मगर वायदे किए, 15 लाख रुपए हर बैंक अकाउंट में मैं डाल दूंगा, 2014 का उनका वायदा था – कितने रुपए आए, मिला किसी को (जनता ने कहा कुछ नहीं आया)। भाईयो और बहनों, सिर्फ 15 लोगों का नरेन्द्र मोदी जी ने साढ़े तीन लाख करोड़ रुपया माफ किया है। उसमें अनिल अंबानी, विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी जैसे लोगों के नाम हैं। हरियाणा में, बाकी प्रदेशों में किसान दिनभर काम करता है, धूप में काम करता है, 4 बजे उठकर काम करता है, मगर जब किसान नरेन्द्र मोदी जी से कर्जा माफी की बात करता है, अरुण जेटली जी कहते हैं, हम नहीं करेंगे, हमारी पॉलिसी नहीं है। फसल बीमा की पॉलिसी बनाते हैं तो बिना पूछे आपके बैंक अकाउंट से पैसा निकाल लेते हैं, बिना पूछे आपके बैंक अकाउंट से, आपको चाहिए, नहीं चाहिए, कुछ फर्क नहीं पड़ता, आपके बैंक अकाउंट से बीमा का पैसा निकाल कर अनिल अंबानी, अडानी इन लोगों की कंपनी में जाता है। फिर नुकसान होता है, बारिश, आंधी, तूफान, आपको कहते हैं, नहीं भईया, बीमा का पैसा आपका ही पैसा आपको वापस मिलेगा।

मैंने उनका भाषण देखा, 15 लाख रुपए का भाषण देखा। 2-3 बार उन्होंने कहा 15 लाख, 15 लाख, मैंने सोचा कि एक बात है, बात तो सही कही है, आईडिया सही है कि गरीबों के बैंक अकाउंट में पैसा जाना चाहिए, ये बात मैंने पकड़ ली। नरेन्द्र मोदी जी ने आपसे झूठ बोला, मैं झूठ बोलता नहीं हूं, मैं झूठ नहीं बोलना चाहता। मैंने कांग्रेस पार्टी के थिंक टैंक से कहा कि देखो, नरेन्द्र मोदी जी ने 15 लाख रुपए का वायदा किया था, उसके बाद उन्होंने किसान के साथ अन्याय किया। मोदी जी ने नोटबंदी की, छोटे दुकानदारों को मारा, गब्बर सिंह टैक्स लगाया, छोटे दुकानदारों के खिलाफ, स्मॉल मीडियम बिजनेस वालों के खिलाफ अन्याय किया। तो मैंने हमारी थिंक टैंस से कहा कि आप काम कीजिए, ये पैसे देने वाली बात मुझे अच्छी लगी है, आप इसको स्टडी कीजिए, इसको एनालाइज कीजिए, स्टडी करने के दो-तीन महीने के बाद आप मेरे पास आईए और मुझे बताईए कि हिंदुस्तान की सरकार, कांग्रेस पार्टी की सरकार इस देश के गरीबों को उनके बैंक अकाउंट में डायरेक्ट कितने पैसे डाल कर दे सकती है। उन्होंने झूठ बोला, आप मुझे सच्चाई बताओ। इस पर 6 महीने काम हुआ और उसके बाद एक ‘न्याय’ का कान्सेप्ट निकला, ऐतिहासिक कानसेप्ट है। इतना ऐतिहासिक कि आपने दो-तीन दिन पहले नरेन्द्र मोदी जी का चेहरा देखा होगा टी.वी. पर, देखा (जनता ने कहा, हाँ) हिला दिया उनको। उसके बारे में मैं आपको बताना चाहता हूं, योजना का नाम -‘न्याय’ योजना। ‘न्याय’ का मतलब हिंदुस्तान में जिसकी भी आमदनी 12,000 रुपए महीने से कम की है, 20 प्रतिशत हिंदुस्तान में लोग हैं, परिवार हैं, जिनकी आमदनी 12,000 रुपए प्रति महीने से कम है, हम उनको ढूंढेंगे, उनके नाम निकालेंगे और उन सबको, सब परिवारों को, साल के 72,000 रुपए उनके बैंक अकाउंट में डाल देंगे। वो अन्याय करते हैं, किसानों को बर्बाद करते हैं, छोटे दुकानदारों को मारते हो तो हम ‘न्याय’ करेंगे।

नरेन्द्र मोदी जी ने आपने कहा 15 लाख रुपए मैं हर परिवार को दूंगा, झूठ था, हमने सच्चाई निकाली। मैं आपको सच्चाई बता देता हूं, 15 लाख रुपए झूठ था, मैं आपको झूठ नहीं बोलूंगा, सच्चाई ये है कि हिंदुस्तान की सरकार 5 साल में इन परिवारों को तीन लाख साठ हजार रुपए दे सकती है और देगी।

पिछले 5 साल में नरेन्द्र मोदी जी ने दो हिंदुस्तान बनाने का काम किया। जहाँ भी जाते हैं, दो हिंदुस्तान की बात करते हैं। ‘स्टार्ट अप इंडिया’, ‘मेक इन इंडिया’, ‘स्टैंड अप इंडिया’, जहाँ भी जाते हैं, इन चीजों की बात करते हैं। ‘मेक इन इंडिया’ का मतलब क्या है – नरेन्द्र मोदी जी के ‘मेक इन इंडिया’ का मतलब है कि राफेल हवाई जहाज का कॉन्ट्रैक्ट हिंदुस्तान के युवाओं से छीन कर 30,000 करोड़ रुपए अनिल अंबानी की जेब में डालना। भाईयो और बहनों, युवाओं! राफेल हवाई जहाज हाई टेक्नोलॉजी का हवाई जहाज है, इसे हिंदुस्तान में बनना चाहिए था। यूपीए सरकार ने, डॉ. मनमोहन सिंह जी ने साफ कहा था ये हिंदुस्तान में बनेगा, 526 करोड़ रुपए का एक हवाई जहाज खरीदा जाएगा, हिंदुस्तान में बनेगा, HAL बनाएगी। अलग-अलग प्रदेशों में ये हवाई जहाज बनेगा, कहीं इसका इंजन बनेगा, कहीं इसके पंख बनेंगे, कहीं एवियोनिक्स, कहीं इंस्ट्रूमेंटस, लाखों युवाओं को रोजगार मिलेगा। मगर नहीं, नरेन्द्र मोदी जी ने कहा – नहीं, ‘मेक इन इंडिया’ नहीं ‘मेक इन फ्रांस’-HAL नहीं, अनिल अंबानी! 526 करोड़ रुपए नहीं, 1,600 करोड़ रुपए!

चौकीदार!! – (जनता ने कहा चोर है)।

पहले कहते थे, अच्छे दिन आएंगे, अब चौकीदार – (जनता ने कहा चोर है)। उसके बाद 2014 में मोदी जी कहते थे – मुझे चौकीदार बनाओ, मुझे प्रधानमंत्री मत बनाओ, अब कहते हैं, हम सब चौकीदार। नरेन्द्र मोदी जी, हिंदुस्तान के चौकीदार ईमानदार हैं। हम सब चौकीदार नहीं हैं, आपने कहा था कि आप चौकीदार बनना चाहते हैं और एक चौकीदार – (जनता ने कहा चोर है)। आप बाकियों को चोर मत बनाओ, आप सब चौकीदारों को चोर मत बनाओ। हिंदुस्तान के सब लोग ईमानदार हैं, उन सबको आपने लाइन में खड़ा किया। यहाँ पोपुलर की इंडस्ट्री थी, इसकी धज्जियाँ उड़ा दी, खत्म कर दिया, इसका क्या दाम मिलता है आपको आज और कांग्रेस के समय क्या दाम मिलता था। गब्बर सिंह टैक्स से फायदा हुआ या नुकसान – (जनता ने कहा – नुकसान)। नोटबंदी से फायदा हुआ या नुकसान – (जनता ने कहा – नुकसान)। सबको लाइन में खड़ा किया धूप में। मगर आपने उस लाइन में अनिल अंबानी को देखा, उनके मेहुल भाई को देखा, नीरव भाई को देखा, ललित मोदी को देखा, नीरव मोदी – (जनता ने कहा – नहीं)। मुझे बताओ ये सब मोदी-मोदी कैसे हैं, ये सब चोर। ललित मोदी चोर है, नीरव मोदी चोर है, चौकीदार – (जनता ने कहा – चोर है)। तो जहाँ भी देखो, लिखा हुआ है चौकीदार – (जनता ने कहा – चोर है)।

मैं आपको दो-तीन चीजें कहना चाहता हूं- सबसे पहले मैंने आपको ‘न्याय’ योजना के बारे में बताया, मैं झूठ नहीं बोलता हूं। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, में चुनाव थे, मैंने वहाँ साफ बोला 10 दिन के अंदर किसान का कर्जा माफ हो जाएगा और पूरा देश जानता है कि 10 दिन के अंदर नहीं, दो दिन के अंदर किसान का कर्जा माफ हो गया। हमने आपसे कहा था मनरेगा, हम आपको देंगे, हमने कर दिया। हमने आपसे कहा था, उस समय कहा था और मैं आपको याद दिलाना चाहता हूं, 2009 में हमने कहा था कि 72,000 करोड़ रुपए किसान का कर्जा माफ करके हम दे देंगे। हुआ था ना- (जनता ने कहा – हाँ)। अब मैं आपको कह रहा हूं, वही नंबर याद करो, 72,000 रुपए, हिंदुस्तान के 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों को सीधा बैंक अकाउंट में पैसा जाएगा और गब्बर सिंह टैक्स जैसे नहीं होगा, 12 बजे रात को ड्रामे के साथ नहीं होगा। पहले पायलट प्रोजेक्ट शुरु होगा, फिर लोग आइडेंटिफाई किए जाएंगे, फिर चरणबद्ध तरीके से आपके बैंक अकाउंट में पैसा आना शुरु होगा। हम जब काम करते हैं, सोच-समझ कर, प्लानिंग करके काम करते हैं। कांग्रेस पार्टी में और नरेन्द्र मोदी जी में ये फर्क है।

दुकानदार यहाँ आए हैं, मैं आपको बताना चाहता हूं, ये गब्बर सिंह ने आपको बहुत लूटा है, नरेन्द्र मोदी जी ने 12 बजे रात को गब्बर सिंह जी से आपका परिचय करवाया था। पिक्चर में कहते थे- बेटा सो जाओ, नहीं तो गब्बर आ जाएगा। आज हर व्यापारी कहता है, बेटा सो जाओ, नहीं तो गब्बर सिंह आ जाएगा और हर महीने गब्बर सिंह आता है। फॉर्म भरो – गब्बर सिंह, इंकम टैक्स के लोग आते हैं कहते हैं रिश्वत दो, गब्बर सिंह, ये दिया है नरेन्द्र मोदी जी ने आपको। मैं आपको कह रहा हूं, छोटे दुकानदारों से कह रहा हूं, स्मॉल मीडियम बिजनेस वालों से कह रहा हूं, सरकार आएगी, 5 अलग-अलग टैक्स हैं, हर महीने आपको 5-10 फॉर्म भरने पड़ते हैं, हम आपको एक टैक्स देंगे, सच्ची जीएसटी कांग्रेस पार्टी आपको दे देगी। एक टैक्स होगा, कम से कम टैक्स होगा, सरल टैक्स होगा और जो युवा बिजनेस चलाना चाहते हैं, खोलना चाहते हैं, साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए 15 लोगों को दिया है, बैंक की चाबी नरेन्द्र मोदी जी ने अनिल अंबानी के नाम कर रखी है। मैं आपको बता रहा हूं अनिल अंबानी से, नीरव मोदी से बैंक की चाबी लेकर हम हिंदुस्तान के युवाओं के हाथ में कर देंगे।

मैनिफेस्टो में हमने साफ लिख दिया है कि जो भी युवा छोटा बिजनेस चालू करना चाहता है, मिडल साइज बिजनेस चालू करना चाहता है, एंटरप्रिन्योर बनना चाहता है, सचमुच में स्टार्ट अप शुरु करना चाहता है, उसकी हम सारी मुश्किलें खत्म कर देंगे।

नरेन्द्र मोदी जी की दुनिया में जब आप शुरु करते हैं, पहले आपको 10-15 परमिशन लेनी पड़ती हैं। सरकार के हर विभाग में जाओ और कहो हमें ये परमिशन चाहिए, आपसे कहते हैं पहले रिश्वत दो। ये परमिशन चाहिए, पहले रिश्वत दो, ये वाली परमिशन चाहिए, कहते हैं नहीं रिश्वत दो। युवाओं, कांग्रेस पार्टी के घोषणा पत्र में साफ लिखा है कि जो भी युवा छोटा बिजनेस चालू करना चाहता है, आपको तीन साल के लिए किसी भी सरकारी ऑफिस से, किसी भी सरकारी विभाग से परमिशन लेने की जरुरत नहीं है, पूरी की पूरी छूट है और जो हिंदुस्तान के लिए रोजगार पैदा करेगा, उसे सरकार मदद करेगी। बैंक का पैसा, बैंक का लोन उसको मिलेगा। नीरव मोदी ने हिंदुस्तान के युवाओं के लिए कितना रोजगार पैदा किया, उसने 10 लोगों को भी रोजगार नहीं दिया, अनिल अंबानी ने कभी हवाई जहाज नहीं बनाया, उसे 30,000 करोड़ रुपए दे दिए। हम युवाओं को पैसा देंगे, हम युवाओं को बिजनेस खोलने के लिए, बिजनेस चलाने के लिए, हिंदुस्तान को रोजगार देने के लिए हम पूरी छूट देंगे और बैंक का दरवाजा उनके लिए खोलेंगे। तो हमने आपके लिए ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं, नरेन्द्र मोदी जी अमीरों की रक्षा करते हैं, नरेन्द्र मोदी जी अमीरों को न्याय देते हैं, कांग्रेस पार्टी गरीबों को, किसानों को, मजदूरों को, छोटे दुकानदारों को ‘न्याय’ देगी।

अब कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता ध्यान से सुनें, आपको हमने हथियार दिए हैं, ये आप नंबर याद रखिए, 72,000, ये आपका हथियार है, हर साल 72,000, 5 साल के अंदर तीन लाख साठ हजार, ये आपका हथियार है। सच्ची जीएसटी, ये आपका हथियार है। किसानो को सही दाम, एमएसपी, कांग्रेस पार्टी बढ़ाती थी, नरेन्द्र मोदी जी नहीं बढ़ाते हैं, ये आपका हथियार है। ये हमने आपको हथियार दिए हैं, कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता, आप पोलिंग बूथ पर जाईए, हरियाणा को जोड़ने का काम कीजिए, सबको एकसाथ लाने का काम कीजिए और यहाँ पर कांग्रेस पार्टी को जिताने का काम कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *