जींद समेत प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश, आज रात पूरे प्रदेश में मिलेगी गर्मी से राहत

Breaking खेत-खलिहान बड़ी ख़बरें हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana

Chandigarh, 12 May, 2018

हरियाणा के कई इलाकों में तपती गर्मी से राहत मिली है. प्रदेश के कई इलाकों में बूंदाबांदी, हल्की बारिश या तेज हवाएं चल रही है वहीं मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक देर रात पूरे प्रदेश में हल्की बारिश होने की संभावना है।

आज सुबह से ही हरियाणा में 45 डिग्री के आसपास पारा पहुंच गया था जिसके चलते गर्मी से लोगों को काफी परेशानी हो रही थी लेकिन दोपहर में तेज लू भी चली और कहीं जगह पर हल्की बूंदाबांदी से मौसम खिल भी गया।

आज जींद जुलाना समेत कई इलाकों में बारिश बताई जा रही है, वहीं देर रात तक प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी हल्की बारिश की संभावना है।

अब मौसम विभाग की तरफ से 13 और 14 मई को प्रदेश में हल्की बारिश और तेज हवाएं चलने के आसार जताए हैं।

विशेषकर 14 मई को पश्चिम विक्षोभ के कारण प्रदेश के कुछ जिलों में बूंदाबांदी के आसार हैं। वैसे 14 और 15 मई को पूरे प्रदेश में ही बादल छाए रहने की संभावना है। बारिश होने की सबसे ज्यादा संभावना जीटी रोड बेल्ट में है।

मौसम को देखते हुए हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने किसान भाईयों को सलाह दी है कि वे खेतों में बिजाई करते समय मौसम में हो रहे बदलाव का ध्यान जरूर रखें। अनाज बेचने के लिए मंडी ले जाते समय तिरपाल आदि का प्रयोग भी जरूर करें और गेहूं के भंडारण से पहले अनाज को अच्छी तरह से साफ करके सुखाएं।

साथ ही सलाह है कि मौसम के परिवर्तनशील रहने की संभावना को देखते हुए किसान अमेरिकन नरमा व बी टी नरमा की बिजाई रोक लें। किसान धान की पौध तैयार करने के लिए या नर्सरी वाले खेत में 10-12 गाड़ी कॅम्पोस्ट खाद डाल कर 2 से 3 बार जुताई करके खेत तैयार करें।

किसान खरीफ के मौसम के अनुसार मूंग, उड़द, मोठ, लोबिया व अरहर फसलों की बुवाई उन्नत किस्मों के साथ 14 मई के बाद ही करें तथा भूमि जनित रोगों से बचाव के लिए बिजाई से पहले बीज को 2 ग्राम बाविस्टिन प्रति किलोग्राम के हिसाब से उपचारित करें।

खेतों में लगी हुई सब्जियां या फलदार  पौधे में आवश्यकतानुसार हल्की सिंचाई करें और बैंगन, मिर्च की पौध लगाए व खीरा, तुरई की बुवाई पूरी करें। गर्मी के चारे के लिए किसान खेत को  तैयार करके ज्वार, बाजरा, लोबिया व सुडान हाथी घास आदि को मिलाकर बिजाइ करें।

पशु देखभाल के संबंध में उन्होंने बताया कि पशुओं के अच्छे स्वास्थ्य व दूध उत्पादन के लिए 50 ग्राम नमक तथा 50 से 100 ग्राम खनिज मिश्रण प्रति पशु अवश्य दें।

अधिक जानकारी के लिए हिसार के टोल फ्री नम्बर, हिसार के लिए 18001803001, उचानी (करनाल) के लिए 18001803111 और बावल (रेवाड़ी) के लिए 18001804002 तथा दिल्ली के लिए 18001801551 तथा ई-मेल iaas.hisar@gmail.com पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *