मंडियों में नहीं हो रहा गेंहू का उठान, अन्नदाता हो रहा है परेशान

Breaking खेत-खलिहान बड़ी ख़बरें हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 24 April, 2018

प्रदेश की अनाज मंडियों में गेंहू की भरमार है, प्रदेश की ज्यादातर अनाज मंडियां गेंहू की फसल से अटी पड़ी हुई है। ऊपर से खराब मौसम ने अन्नदाता की टेंशन को डबल कर दिया है।

हरियाणा की ज्यादातर मंडियों में गेंहू की फसल तो ज्यादा पहुंच रही है लेकिन मंडी में गेंहू का उठान ना होने के चलते किसानों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

प्रदेश की मंडियों में हजारों टन गेंहू खुले आसमान के नीचे पड़ा हुआ है, ज्यादातर मंडियों में शेड की व्यवस्था ना होने के चलते किसानों का पीला सोना बारिश की चपेट में भी सकता है।

प्रदेश की अलग-अलग अनाज मंडियों में करीब 50 लाख मीट्रिक टन गेंहू की खरीद हो चुकी है, वहीं हजारों टन गेंहू अनाज मंडियों में पड़ा हुआ है।

1735 रुपए क्विंटल के हिसाब से किसानों की गेहूं खरीदने का काम किया जा रहा है और अबकी बार गेहूं की पैदावार भी अच्छी हुई है।

 

प्रदेश की ज्यादातर अनाज मंडियों में लदान की दिक्कत 

प्रदेश की ज्यादातर अनाज मंडियों में गेंहू की फसल की लदान नहीं होने की वजह से किसानों को परेशानी हो रही है, किसानों को गेंहू डालने के लिए अब मंडियों में जगह भी नहीं है, करनाल, कुरुक्षेत्र, अंबाला, रोहतक, सोनीपत, भिवानी, फतेहाबाद, हिसार की मंडियों में फसल की ज्यादा आवक होने की वजह से खुले आसमान के नीचे किसानों का गेंहू पड़ा हुआ है।

करनाल की अनाज मंडी में यूपी का गेंहू पहुंचा 

करनाल के आसपास यूपी के इलाके की गेंहू अनाज मंडी में पहुंच रही है, जिसका विरोध भारतीय किसान यूनियन के सदस्यों ने किया। किसानों ने आढ़तियों को भी यूपी के गेहूं की खरीद करते हुए पकड़ा। इसको लेकर खाद्य आपूर्ति मंत्री को शिकायत भी लगाई, लेकिन मंत्री जी बेतुका बयान देकर निकल लिये। हालांकि किसान आरोपी आढ़तियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते रहे।

भट्टू अनाज मंडी में तोल में की जा रही थी गड़बड़ी

इधर फतेहाबाद के भट्टू की अनाज मंडी में तोल में गड़बड़ी करने का भी मामला सामने आया। यहां पर किसानों ने आरोप लगाया कि प्रति कट्टे में तीन किलो गेंहू ज्यादा भर्ती की जा रही है, जिसकों लेकर किसानों ने मार्केट कमेटी सचिव को भी शिकायत लगाई।

लाखों टन गेंहू पड़ा है खुले आसमान के नीचे

प्रदेश की ज्यादातर अनाज मंडियों में गेंहू की ज्यादा आवक होने के कारण खुले आसमान के नीचे गेंहू के ढेर लगे हुए पड़े हैं, लदान की गति ढीली होने की वजह से किसानों को सड़कों पर ही गेंहू डालना पड़ रहा है वहीं किसानों को अपनी गेंहू की फसल बेचने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। मंडियों में लदान समय पर ना होने की वजह से किसानों की फसलों को आवारा पशु भी खराब कर रहे हैं।

मौसम का बदला मिजाज, अन्नदाता हुआ परेशान

गेंहू की 80 फीसदी फसल निकल चुकी है, ज्यादातर फसल मंडियों में भी आ चुकी है, लेकिन अब मौसम के बदलते मिजाज ने किसानों की टेंशन बढ़ा दी है, खुले आसमान के नीचे पड़ी गेंहू की फसल से अन्नदाता के पसीने छूट रहे हैं, मंडियों में पहले ही नमी और अन्य कारणों से आढ़ती फसल खऱीदने में ना नुकर कर रहे हैं, वहीं हल्की सी बारिश से भी किसानों की मंडियों में आई हुई गेंहू खराब हो सकती है।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *