राजस्थान का मोस्ट वांटेड अपराधी हरियाणा में गिरफ्तार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Bhiwani, 05 Feb,2019

देश के अन्नदाता कहे जाने वाले किसान की आर्थिक हालत किसी से छुपी नहीं है, ऐसे में कोई इन किसानो की खुन-पशीने की कमाई को ठग ले तो उस किसान की हालत आप समझ सकते हैं। राजस्थान पुलिस ने भिवानी के लोहारू क्षेत्र से एक ऐसे ही ठग को गिरफ्तार किया है जो किसानों की फसलों के 55 लाख रुपये लेकर फरार हो गया था।

राजस्थान की पिलानी पुलिस की गिरफ्त में आया ये पाबू दान सिंह नामक व्यक्ति दिखने में बहुत ही गरीब व भोला भाला लगता है, लेकिन असलियत में ये बहुत ही शातिर ठग है। ठगी भी किसी लखपति या करोङपति से नहीं बल्कि गरीब किसानों के साथ की है। राजस्थान पुलिस की माने तो इसने किसानों की फसल खरीदी और उनके पैसे देने के समय फरार हो गया।

राजस्थान की पिलानी पुलिस ने इसको काफी तलाश किया लेकिन ये नहीं मिला। इसके बाद इसे वांछित अपराधियों की सूची में डाला और इसका पता बताने पर दो हजार रुपये इनाम की घोषणा की गई। साथ ही तलाश ना होने पर इसे टॉप-10 वांछित अपराधियों की सूची में शामिल किया गया। करीब चार साल बाद इस ठग को पिलानी पुलिस ने लोहारू क्षेत्र से गिरफ्तार किया।

राजस्थान की पिलानी पुलिस के डीएसपी प्रतापमल केङिया व पिलानी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर मदन कङवासरा ने बताया कि पिलानी क्षेत्र के गांव दूदवा निवासी पाबू दान सिंह किसानों से उनकी फसल खरीदता था। जब किसान उनकी फसल के दाम मांगते तो वह आना कानी करने लगता। जब उसने करीब 55 लाख रुपये की फसल खरीद ली और आगे बेच दी तो वह किसानों के पैसे दिये बिना ही फरार हो गया। उन्होने बताया कि 2015 में इसके खिलाफ मामला दर्ज किया था और तलाश ना होने पर टॉप-10 वांछित अपराधियों की सूची में इसका नाम शामिल कर दो हजार रुपये इनाम रखा गया था।

बता दें कि लोहारू कस्बे की सीमाएं राजस्थान के पिपली क्षेत्र से लगती हैं। ऐसे में कई बार अपराधी यहां से वहां और वहां से यहां आ जाते हैं। दूसरे राज्य की सीमा में जाने पर पुलिस के लिए उनकी तलाश कर गिरफ्तार करना मुश्किल हो जाता है। क्योंकि दूसरे राज्य में अपराधी कोई नहीं पहचानता। ऐसे में पुलिस के सुत्र भी नाकाम हो जाते हैं। बावजूद इसके किसानों से लाखों की ठगी करने वाले इस ठग की गिरफ्तारी पिलानी पुलिस की बङी कामयाबी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *