Home Breaking हुड्डा ने अपने 10 साल के शासनकाल में बिजली उपभोक्ताओं को एक पैसे की राहत नहीं दी थी- राजीव जैन

हुड्डा ने अपने 10 साल के शासनकाल में बिजली उपभोक्ताओं को एक पैसे की राहत नहीं दी थी- राजीव जैन

0
0Shares
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 23 July, 2018
हरियाणा के मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अपने 10 साल के शासन के दौरान बिजली उपभोक्ताओं को एक पैसे की भी राहत नहीं दी। अलग-अलग समय में 5 प्रतिशत से 16 प्रतिशत तक बिजली की दरों में बढोतरी करने के बाद अब अब दाम आधे करने का झांसा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार की नालायकी, भ्रष्टाचार, कुप्रबंधन की वजह से आमजन बिजली को तरसा और बिजली निगम के हालात बदतर हुए। भाजपा सरकार द्वारा 26 हजार करोड रूपए का कर्ज अपने ऊपर लेकर स्थिति सुधारनी पडी।
आज यहां पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा बिजली के दाम आधे करने पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कहा कि जिस कार्यकाल में बिजली निगम की हालत लगातार बिगडती चली गई और आमजन को कभी बिजली बिलों में राहत नहीं मिली। अब वो लोग बिजली दरों को आधा करने का ढोंग रच रहे हैं। अक्तूबर 2010 में 16 प्रतिशत, अप्रैल 2012 में 13 प्रतिशत, अप्रैल 2013 में 8 प्रतिशत और वर्ष 2014 में 5 प्रतिशत बढोतरी करके आमजन पर बोझ डाला।
हुड्डा सरकार के दौरान बिजली सरप्लस होने के बहाने एकाएक ताप घरों को बंद करके अरबों रूपए की सरकारी मशीनरी खराब कर दी गई, वहीं उनमें कार्यरत कर्मचारियों को खाली बैठे वेतन देना पडा, इसका बोझ ईमानदारी से बिल अदा करने वाले उपभोक्ताओं पर पडा। बिजली निगमों की स्थिति सुधारने की बजाय 1600 करोड रूपए के बिजली बिल माफ करके ऐसी परंपरा का आगाज किया, जो ईमानदार उपभोक्ताओं से धोखा  था। बिजली चोरों का हौंसला बढाने की इस कडी में अकेले रोहतक जिला में 1100 करोड रूपए माफ किए गए, ताकि उनकी राजनीति जिंदा रहे।
उन्होंने कहा कि पूर्व सरकारों में लगातार ऐसे कुप्रबंधन को पटरी पर लाने के लिए जहां बिजली निगमों के 26 हजार करोड रूपए कर्ज को सरकार ने अपने ऊपर लिया और व्यवस्था में सुधार के लिए कदम उठाने शुरू किए। उन्होंने कहा कि आज सरकार पूर्व सरकार के एफएसए 72 पैसे प्रति यूनिट को 37 प्रतिशत पर लाए और घरेलू उपभोक्ता, कृषि उपभोक्ता, छोटे एवं सूक्ष्म उद्योगों के प्रोत्साहन के लिए बिजली दरों में कमी की गई। प्रदेश के छह जिलों के ग्रामीण क्षेत्र में घरेलू उपभोक्ताओं को 24 घंटे निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की गई। उन्होंने कहा कि हुड्डा आम आदमी के नहीं, बल्कि चोरों के हितैषी हैं। प्रदेश के ईमानदार लोगों को बेहतर व्यवस्था देने की बजाय कांगे्रसियों ने चोरी की परंपरा को बढावा दिया और ऐसे ही लोगों के लिए वह आमजन को झूठे झांसे दे रहे हैं।
Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में कोरोना का लगातार बढ़ रहा ग्राफ, आज सामने आए 355 नये पॉजिटिव केस, देखिये मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, Chandigarh ये भी पढ़िय…