कांग्रेस से खुद का घर संभल नहीं रहा, दूसरों के घर जाकर संगठन मजबूत करने की बात कर रहे हैं- राजीव जैन

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 18 June, 2018
मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कांग्रेस घर-घर अभियान पर चुटकी लेते हुए कहा कि जो अपना घर नहीं संभाल पा रहे वो दूसरों के घर जाकर संगठन मजबूत करने की बात कर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस की गुटबाजी और वर्चस्व की लड़ाई की ओर इशारा करते हुए कहा कि अपने ही बड़े नेताओं और कार्यकर्ताओं के घर जाने में कांग्रेसी भेदभाव कर रहे हैं, क्योंकि उनकी नियत और नीति खोट से परिपूर्ण है।
आज यहां कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर द्वारा राहुल गांधी के जन्मदिन से कांग्रेस घर-घर अभियान चलाने पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कहा कि कांग्रेस के घर मे गृह क्लेश हावी है और जिस घर मे सदस्यों का एक-दूसरे से भरोसा उठ जाए, उस घर का विनाश नजदीक होता है। देश भर में इसी गृह क्लेश के चलते कांग्रेस  की दुर्गति हो रही है और आमजन का भरोसा खोने के कारण संगठनात्मक तौर पर सिमट रही है।
उन्होंने कहा कि संगठन को मजबूत करने के लिए घर-घर जाना लोकतांत्रिक दृष्टि से सबका हक है, लेकिन बेहतर होगा कि कांग्रेसी पहले अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं के घरों में जाने में भेदभाव करना बंद करें। उन्होंने कहा कि सत्ता के लिए आंख मूंदकर कांग्रेसी अपने-अपने गुट को मजबूत दिखाने की कोशिश कर रहे हैं, जो सफल नहीं होगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेसियों की सिर फुटव्वल अब घर से निकल कर सड़ पर आ गई है। कांग्रेस में सभी नेता मुख्यमंत्री बनने की चाहत में एक-दूसरे के राजनीतिक वर्चस्व को खत्म करने पर तुले हुए हैं, ताकि खुद को मज़बूत कर सकें। उन्होंने कहा कि कांग्रेसियों की यात्राएं और उनके संगठनात्मक व्यवस्था अपने अंतिम पड़ाव में है।
उन्होंने कहा कि कांग्रेसी कार्यकर्ता समझ नहीं पा रहे कि उनके संगठन में शामिल होने वाले लोग कांग्रेस के कार्यकर्ता बनकर काम करेंगे या किसी के निजी हितों की पूर्ति का माध्यम बनेंगे। उन्होंने कहा कि जिन्हें कांग्रेस अध्यक्ष पार्टी में शामिल कराते हैं, उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री स्वीकार नहीं करते और जिन्हें भूपेंद्र हुड्डा पार्टी में शामिल कराते हैं, उन्हें अशोक तंवर स्वीकार नहीं करते।
जैन ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में शासन समान विकास की अवधारणा पर चल रहा है।
कर्मचारियों के हितों में निर्णय लेने से लेकर व्यवस्था को पारदर्शी बनाने के लिए संवेदनशील तरीके से फैसले लिए जा रहे हैं। आज हर क्षेत्र में बिना भेदभाव के विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। आज कांग्रेसियों के पास सरकार को अंगुली उठाने का कोई बहाना नहीं बचा है, जिससे साबित होता है कि भाजपा सरकार बेहतर तरीके से अपने दायित्व का निर्वहन कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *