विधानसभा चुनाव के परिणाम से लोकसभा चुनावों पर नहीं पड़ेगा कोई असर-रामबिलास शर्मा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 13 Dec, 2018

हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजों पर अपनी प्रतिक्रिया जारी करते हुए कहा कि राजनीति में हार व जीत का दौर चलता रहता है। उन्होंने राजस्थान,मध्यप्रदेश व छतीसगढ़ के मंगलवार को घोषित चुनाव नतीजों को लेकर कहा कि इन भाजपा शासित प्रदेशों में उनकी पार्टी ने कांग्रेस को कड़ी टक्कर दी है।

उन्होंने कहा कि इन प्रदेशों में भाजपा की सम्मानजनक हार हुई है। विधानसभा चुनाव में मुद्दे अलग होते हैं और लोकसभा चुनावों में अलग मुद्दे होते हैं। बीते 15 वर्षो में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ भाजपा की सरकार रही है। इतने वर्षो के शासनकाल के बाद भी वहां किसी प्रकार की सत्ता विरोधी लहर नजर नहीं आ रही है। जिससे सिद्व होता है कि भाजपा की लहर बरकरार है।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि इन चुनावों में पार्टी से कहां क्या गलती हुई है उनमें सुधार करके 2019 के लोकसभा चुनावों में पूरे जोश के साथ चुनाव लडेंगी।  इन विधानसभा चुनाव के नतीजों से प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता पर कोई असर नही पड़ेगा। यह बात आने वाले लोकसभा चुनावों में सिद्ध हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जनहित में लिए गए अनेकों एतिहासिक निर्णयों से विश्व स्तर पर हिंदुस्तान तेजी से सशक्त राष्ट्रीय के तौर पर विकसित हुआ है और केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए जनहित फैसले राष्ट्रीय की मजबूती के लिए सदैव प्रभावी रहेंगे।

हरियाणा सरकार द्वारा गौ संरक्षण अधिनियम, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वच्छता अभियान, ऑन लाईन अध्यापक स्थानांतरण नीति लागू करने से हरियाणा हिंदुस्तान का पहला राज्य है। गाय, बेटी व जल का संरक्षण एवं संवर्धन ही मजबूत भविष्य का आधार है। नौकरियों में पार्दशिता लाने पर गरीब आदमी अपने मुंह से सरकार की सरहाना कर रहा है।

प्रदेश में पढ़ी- लिखी पंचायत चुनने, गाय की रक्षा का कानून बनाने, अध्यापकों की तबादला नीति में पारदर्शिता लाने और गीता को नैतिक शिक्षा में लागू करने का श्रेय प्रदेश सरकार को जाता है। उन्होंने कहा कि किसी भी समाज की तरक्की का आधार शिक्षा है और हरियाणा में शिक्षा के क्षेत्र में सरकार ने जिन बुलंदियों को छूआ है, उसकी आज पूरे देश में चर्चा हो रही है।

भाजपा के कार्येकाल में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व सुधार हुआ है। पूर्व की सरकारों के कार्यकाल में अध्यापकों को अपने स्थानांतरण की अधिक चिंता रहती थी जिसके कारण वे बच्चों की पढ़ाई पर ठीक ढ़ंग से ध्यान भी नहीं दे पाते थे। वर्तमान सरकार ने सरकारी स्कूलों में कार्यरत अध्यापकों को चिंतामुक्त करते हुए उनके स्थानांतरण के लिए एक ऑनलाइन स्थानांतरण नीति बनाई जिसके तहत एक क्लिक में 60 हजार से अधिक अध्यापकों का एक साथ स्थानांतरण हो गया।

खास बात यह रही कि सभी अध्यापकों को उनके पसंद के अनुसार स्टेशन दिए गए। शिक्षा मंत्री ने बताया कि शिक्षा का मतलब केवल किताबी ज्ञान नहीं होता, विद्यार्थी को एक अच्छा इंसान भी बनाना होता है, इसलिए वर्तमान सरकार ने स्कूली पाठ्यक्रम में गीता के श्लोक भी शामिल किए, ताकि विद्यार्थियों में सामाजिक मूल्यों का भी समावेश हो।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *