पत्रकार रामचंद्र छत्रपति और रंजीत हत्याकांड का मामला पहुँचा सुप्रीम कोर्ट

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

गुरमीत राम रहीम सिंह ने पंजाब हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। राम रहीम ने अपने पूर्व ड्राइवर खट्टा सिंह के फिर से बयान दर्ज कराने को लेकर हाई कोर्ट की अनुमति के खिलाफ याचिका दायर की है । सुप्रीम कोर्ट इस याचिका पर 7 मई को सुनवाई करेगा।

बता दें कि दोहरे हत्याकांड मामले में खट्टा सिंह की गवाही को लेकर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने आदेश दिया था कि दोनों ही मामलों में ड्राइवर खट्टा सिंह की फिर से गवाही होगी। इससे पहले खट्टा सिंह ने पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में एक याचिका लगाई थी, जिसमें उसने एक बार फिर से गवाही देने की मांग की थी। कोर्ट ने खट्टा सिंह की इस मांग को खारिज कर दिया था। इसके बाद सीबीआई कोर्ट के फैसले को खट्टा सिंह ने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी।

खट्टा सिंह का कहना है कि राम रहीम के दबाव की वजह से खुलकर गवाही नहीं दे सका, अब राम रहीम जेल में बंद है तो वह फिर से गवाही देना चाहता है। बता दें कि 10 जुलाई 2002 को डेरे की प्रबंधन समिति के सदस्य रहे चुके कुरुक्षेत्र के रंजीत का मर्डर हुआ था। डेरा प्रबंधन को शक था कि रणजीत ने साध्वी यौन शोषण की गुमनाम चिट्ठी अपनी बहन से ही लिखवाई थी।

पुलिस जांच से असंतुष्ट रंजीत के पिता ने जनवरी 2003 में हाई कोर्ट में याचिका दायर कर सीबीआइ जांच की मांग की थी। वहीं 24 अक्टूबर 2002 को सिरसा के सांध्य दैनिक ‘पूरा सच’ के संपादक रामचंद्र छत्रपति को पांच गोलियां मारी गई थी, जिसके बाद 21 नवंबर 2002 को रामचंद्र छत्रपति की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में मृत्यु हो गई।

Read This Also

निजी स्कूलों ने 134ए के विरोध में रविवार तक स्कूल बंद करने किया ऐलान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *