96 साल की उम्र में पिता बने थे रामजीत राघव, अब जलने से हुई मौत

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Sonipat
हरियाणा के खरखौदा के रामजीत राघव 96 साल की उम्र में पिता बनकर सुर्खियों में आ गए थे, लेकिन अब अचानक उनकी मौत बिस्तर पर जलने से हो गई है। उनका शव खरखौदा में वार्ड नंबर 9 में मिला है। रामजीत राघव अब 104 साल की उम्र के हो गए थे। फिलहाल वो तंगहाली की जिंदगी जी रहे थे। इस उम्र में उनके दो बेटे और पत्नी लापता हो गई थी। जिसके बाद उनके पैर में भी चोट लग गई थी जिसके कारण वो बिस्तर पर ही थे।

शुद्ध शाकाहारी किस्म के रामजीत की पत्नी शंकुतला ने साल 2012 में दूसरे बच्चे को जन्म दिया था। उस वक्त रामजीत की उम्र करीब 96 साल थी। उनको पहला पुत्र साल 2010 में हुआ था। बताते हैं कि रामजीत ने अपनी आधी उम्र ब्रह्मचार्य में ही गुजारी थी। लेकिन 52 साल की उम्र में जाकर किसी महिला के साथ रहने लगे थे।

जब वो 52 साल की उम्र के हुए थे, उस वक्त एक अनाथ महिला उनके संपर्क में आई और दोनों एक दूसरे का सहारा बन गए । दोनों अपनी मेहनत मजदूरी करके पेट पाल पाल रहे थे कि साल 2012 में उनका बड़ा बेटा लापता हो गया। इसके दो साल बाद ही पत्नी शंकुतला और दूसरा बेटा भी लापता हो गया।

इस पूरे घटनाक्रम से अचानक रामजीत की जिंदगी ही बदल गई। रामजीत इन दो घटनाओं के बाद पूरी तरह से टूट गया और महावीर कॉलोनी में स्थित एक मजार में रहकर गुजारा करने लगा।  मंगलवार रात को अचानक उसके कमरे में आग भड़क गई। लोगों ने आग पर जब तक काबू पाया। तब तक उसकी झुलसने से मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *