राष्ट्रपति ने प्रदेश के नौ किसानों को हरियाणा कृषि रत्न पुरस्कार व एचएयू हिसार को हरियाणा किसान रत्न पुरस्कार से किया सम्मानित

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana,
Sonipat, 17 Feb,2109
राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने चौथे कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन के समापन अवसर पर चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार को पहला हरियाणा किसान रत्न पुरस्कार प्रदान किया।
विश्विद्यालय के कुलपति डा. केपी सिंह ने विश्विद्यालय की ओर से यह पुरस्कार प्राप्त किया। इसमें पांच लाख रुपये व प्रशस्ति पत्र शामिल था।
इस अवसर पर राष्ट्रपति ने कहा कि हरियाणा देश को कृषि नेतृत्व प्रदान कर सकता है। हरियाणा जय जवान-जय किसान को सही मायने में चरितार्थ कर रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के अधिकांश परिवारों में एक बेटा किसान तो दूसरा सेना में जवान है।
वहीं राष्ट्रपति ने प्रदेश के नौ किसानों को हरियाणा कृषि रत्न पुरस्कार भी प्रदान किया। पुरस्कार प्राप्त करने वाले किसानों में यमुनानगर के रामनगर के मांगेराम को बासमती धान में पानी की बचत के लिए बीज से सीधी बिजाई तकनीक के लिए।
महेंद्रगढ़ जिला के गांव गुढ़ा की नीतू को जैविक खेती के लिए।
गौवंश पालक व अन्य महिला किसानों के लिए प्रेरणा के लिए यह सम्मान दिया गया।
रेवाड़ी जिला के भाडावास गांव के किसान भूपेंद्र सिंह को समग्र खेती विधि द्वारा जैविक उत्पाद व उत्तम जल प्रबंधन के लिए।
भारत कालोनी रोहतक के डा. शिव दर्शन मलिक को गाय पर आधारित भवन निर्माण सामग्री ब्लाक वैदिक प्लास्टर उत्पादन के लिए।
गांव प्रभूवाला जिला हिसार के शिवशंकर को टपका सिंचाई से बागवानी फसलों के लिए सम्मान दिया गया।
गांव मकडौला जिला गुरुग्राम के किसान सतीश को बांक की स्टैकिंग बनाकर टमाटर व खीरा उत्पादन के लिए कार्य करने के लिए।
गांव चिड़ी जिला रोहतक के किसान धर्मपाल को मत्स्य पालन के लिए।
समालखा के विधायक व मच्छरोली गांव निवासी रविंद्र मच्छरौली को श्रेष्ठ कुक्कट चिकस उत्पादन के लिए और मनोली गांव जिला सोनीपत के किसान दिनेश कुमार को खेती में विविधिकरण अपनाकर स्वीटकार्न, स्ट्रोबेरी का उत्पादन व सीधी मार्केटिंग करने के लिए हरियाणा कृषि रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *