जात-पात की राजनीति को हराएंगे – रणदीप सिंह सुरजेवाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Jind, 24 Jan, 2019

कांग्रेस के उम्मीदवार रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस को वोट से जिंदगियां भी बदलेंगे, रास्ते भी बदलेंगे तथा जात पात की राजनीति का सर फोड़ेंगे। जात पात की राजनीति करने वाले कभी भी विकास नहीं करवा सकते। जो काम करेगी उसकी जात नहीं होती और जिसकी जात होती है, वह काम नहीं कर सकता। वह जींद शहर में नुक्कड़ सभाओं को संबोधित कर रहे थे।

रणदीप ने गुरुवार को जींद शहर में दो दर्जन से अधिक नुक्कड़ सभाओं और लगभग 70 जलपान कार्यकर्मों में हिस्सा लिया, जहाँ समाज के अनेक प्रबुद्ध लोगों और विभिन्न दलों से जुड़े कार्यकर्ताओं ने जींद के बेहतर भविष्य के लिए रणदीप को समर्थन देने की घोषणा की। नुक्कड़ सभाओं में भारी भीड़ उमड़ी, जहाँ भारी ठंड के बावजूद सैंकड़ों की संख्या में लोग रणदीप सुरजेवाला का भाषण सुनने के लिए जुटे।

सुरजेवाला ने कहा कि 10 साल से यहां पर इनेलो के हरिचंद मिढ़ा विधायक रहे, लेकिन जींद की बदहाली को दूर नहीं कर पाए। पांच साल को वह बीमार रहे और उनका काम उनके बेटे कृष्ण मिढ़ा, जो अब भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं, ने संभाला था, वह तब भी जींद में काम नहीं करवा सके तो अब क्या करवाएंगे। उन्होंने कहा कि अगर एमएलए बनने से काम होता तो उनको यहां आने की आवश्यकता नहीं होती, काम होता है इलाके के लीडर से। जिस इलाके का लीडर सक्षम होता है, वह ही अपने इलाके का विकास करवा सकता है।

सुरजेवाला ने कहा कि जीदं की इस धरती पर जब उन्होंने जन्म लिया तो इसी धरती ने उनको चलना सिखाया। जब चलना सीखा तो इसी धरती ने उनको दौडऩा सिखाया। जब दौडऩा सीखा तो इसी धरती ने उनको पंख लगाकर उडऩा सिखाया। भले ही मैंने पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्ड़ा के साथ मिलकर प्रदेश का शासन चलाया हो, भले ही देश की राजनीति में कदम रखा हो, भले ही मैं हरियाणा या देश के किसी कौने में रहूं या फिर विदेश चला जाऊं, लेकिन नेता हमेशा से ही जींद की धरती का बेटा ही रहूंगा।

सुरजेवाला ने कहा कि जब पार्टी हाईकमान ने उनको जींद से उम्मीदवार बनाया तो कर्तव्यबोध हुआ। यह था कि जिस प्रकार कैथल में विकास हुआ है और जिस प्रकार से हमने रोहतक में विकास करवाया तो अपनी धरती जींद का क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि जब वह कैथल से विधायक थे तो उसके हालात जींद से भी खराब थे। लेकिन आज कैथल की बदली तस्वीर आप देख सकते हैं।

इलाके के नुमाईंदा होने के नाते जब मैं रात को घूमता हूं और देखता हूं कि कहीं कोई कमी तो नहीं। कोई सड़क तो नहीं टूटी, कोई स्ट्रीट लाइट को खराब नहीं है और कहीं सफाई तो नहीं हुई है। इसलिए अधिकारी मुझे भूत कहते हैं, क्योकि रात को 1 या 2 बजे तक मैं कभी भी सड़क पर आ जाता हूं।

सुरजेवाला ने कहा कि जींद इलाके की बदहाल तस्वीर आप लोगों के सामने है। जींद के नागरिक अस्पताल में चिकित्सकों के 56 पद स्वीकृत हैं लेकिन यहां पर मुश्किल से 15 चिकित्सक ही कार्यरत हैं। जो अस्पताल स्वयं बीमार है वह आम लोगों का इलाज कैसे करेगा। उन्होंने कहा कि जींद के युवाओं को तो खट्टर सरकार ने कच्चे कर्मचारी के पद पर नौकरी के लायक भी नहीं समझा है। यहां पर अधिकांश कच्चे कर्मचारी बाहर के हैं।

यह सरकार जींद के युवाओं को 9 हजार की नौकरी के काबिल नहीं समझ रही तो हमारे इलाके के बच्चे आईएएस, आईपीएस, डीएसपी व अन्य पदों पर कैसे पहुंचेंगे। खट्टर सरकार ने नौकरियों के मामले में तो जींद के युवाओं से जमकर भेदभाव किया है। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में कोच नहीं है और कॉलेज में प्राध्यापक। जिससे खेल व पढ़ाई के मामले में जींद इलाके को पीछे करने की साजिश रची जा रही है।

सुरजेवाला ने कहा कि पूरा जींद शहर इस सरकार ने उखाड़ रखा है। शहर का ऐसा कोई कोना नहीं जिसे इस सरकार ने ना तोड़ा हो। जिससे जींद के लोगों की मुसीबतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। अब चुनाव को नजदीक देखकर सरकार ने सड़क बनाने का काम शुरू कर दिया। लेकिन अब भाजपा की नीतियों से जनता रूबरू हो चुकी है और भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है।

जननायक कर्पूरी ठाकुर की जन्म जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और बिहार में समाजवाद के सबसे मजबूत स्तम्भ स्व. कर्पूरी ठाकुर दलितों, पिछड़ों और वंचितों के मसीहा थे।

कर्पूरी ठाकुर ने बगैर किसी तामझाम और प्रचार के बिहार की राजनीति में पारदर्शिता, ईमानदारी और जन-भागीदारी के जो प्रतिमान उपस्थित किए, उसके आसपास भी पहुंचना उनके बाद के किसी राजनेता के लिए संभव नहीं हुआ। एक गरीब सैन परिवार से आए कर्पूरी जी सत्ता के तमाम प्रलोभन और आकर्षण के बीच भी जीवन भर सादगी और निश्छलता की प्रतिमूर्ति बने रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *