आप जींद जिले की पांचों सीटें कांग्रेस की झोली में डालकर दें, सत्ता आपकी ड्योडी पर लाकर रख दूंगा- रणदीप सुरजेवाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 21 July, 2018

भाजपा है केवल चिंतन, मंथन, भोजन, आयोजन और उनकी असलियत है – कोरी झूठ, निरी लूट कांग्रेस के मीडिया प्रभारी व कैथल से विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज नरवाना में आयोजित बदलाव रैली को संबोधित करते हुए कहे। सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा सरकार को किसान विरोधी करार देते हुए कहा कि सत्ता मिलने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुरुक्षेत्र के एक जलसे में किसानों को लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफा देने का वायदा किया लेकिन सत्ता मिलने के बाद ने 22 फरवरी 2015 को सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र देकर कहा था कि वह किसानों को 50 फीसदी मुनाफा नहीं दे सकते। इससे बाजार भाव बिगड़ जाएगा।

सुरजेवाला ने जींद और नरवाना के लोगों को कांग्रेस में रंग जाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जींद जिले के लोग इतिहास रचते है। नरवाना की जनता ने वर्ष 2005 में तत्कालीन ओमप्रकाश चौटाला को हराकर इतिहास रचा था और इस बार पांचों सीट कांग्रेस को लेकर फिर इतिहास दोराहा जाएगा। उन्होंने कहा कि जब आपके बेटे के हाथ में सत्ता की चाबी आएगी तो नरवाना क्षेत्र और आसपास में कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि आप जींद जिले की पाँचों सीटें कांग्रेस की झोली में डालकर दें सत्ता आपकी ड्योडी पर लाकर रख दूंगा।

सुरजेवाला ने कहा कि मेरा सरकार से सवाल है कि जब देश के 12 उद्योगपतियों का 1 लाख 86 हजार करोड़ का कर्जा माफ कर दिया गया तो बाजार भाव क्यों नहीं बिगड़े। सुरजेवाला ने कहा कि जब कांग्रेस का शासन था तो कांग्रेस पार्टी ने इस देश के किसानों का 72 हजार करोड़ रुपया कर्जा माफ किया और जब इस बार फिर कांग्रेस सरकार बनेगी तो भी 2 एकड़ तक के किसानों और भूमिहीन किसान खेत मजदूरों का 50 हजार तक का कर्जा माफ किया जायेगा।

कृषि मूल्य आयोग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार एक तरफ तो कहती है कि हमने फसल का समर्थन मूल्य बढ़ा दिया लेकिन अगर देखा जाए तो धान का समर्थन मूल्य 2340 रु प्रति क्विंटल बनता है और किसान को मिल रहा 1750 रु प्रति क्विंटल, ज्वार पर 3275 रु प्रति क्विंटल बनता है और मिल रहा 2400 रु प्रति क्विंटल व कपास पर 6771 रु प्रति क्विंटल बनता है और मिल रहा है 1621 रु प्रति क्विंटल। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री खट्टर और भाजपा एक तरफ तो भ्रष्टाचार को खत्म करने के झूठे दावे करती है, लेकिन दूसरी ओर प्रदेश में भ्रष्टाचार का बोलबाला है और आम जनमानस भ्रष्टाचार से त्रस्त है।

केंद्र की मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल पर एक्साईज डयूटी लगाकर इस देश की जनता से 10 लाख करोड़ रुपए और खट्टर सरकार 9 हजार करोड़ रुपए वसूल रही है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को प्राइवेट मुनाफा कम्पनी व किसान शोषण योजना करार देते हुए सुरजेवाला ने कहा कि किसान की फसल खराब होती है तो केन्द्र व खट्टर सरकार कहती है कि हमने फसल बीमा योजना लागू की है। इसकी सच्चाई किसी को नहीं बताई। इस सरकार ने खेती बाड़ी पर टैक्स लगाकर 20 हजार 500 करोड़ रुपये एकत्रित कर लिए और किसानों को बीमा के रूप में केवल मात्र 5000 करोड़ रुपया दिया गया। 14 हजार करोड़ रुपये देश की 7 बीमा कंपनियों के खाते में चले गए, इनमें से कुछ कंपनियां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चहेती कंपनियां हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना का नाम प्रधानमंत्री फसल बीमा नहीं, बल्कि प्राइवेट मुनाफा कम्पनी होना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *