शेर का शिकार न तो लोमड़ी कर पाई है और ना ही कर पायेगी- रणदीप सुरजेवाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Kaithal, 02 Feb, 2019

जींद उपचुनाव में हार के बाद रणदीप सुरजेवाला ने कड़ा रुख आख्तियार किया है। आज कैथल में कांग्रेस वर्करों की बैठक के दौरान उन्होने भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि शेर का शिकार लोमड़ी ना तो कर पाई है और ना ही कर पाएगी। उन्होने कहा कि एक लड़ाई हारे हैं, बल्कि जंग अभी बाकी है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जान फूंकते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जींद उपचुनाव में कैथल व नरवाना के साथियों ने जींद के साथियों से मिलकर जो मेहनत की उसके लिए वो सबके आभारी हैं।

उन्होंने ये भी कहा कि इस लड़ाई में कामयाबी न मिलने पर साथियों की पीड़ा भी समझते हैं लेकिन हमने लड़ाई हारी है जंग नहीं हारी। उन्होंने कहा कि जंग कई प्रकार की है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें चुनाव लड़ने का आदेश दिया और हमने उस चुनौती को स्वीकार किया और आपके आशीर्वाद से उसे मुकाम तक ले जाने के लिए भी अग्रसर हुए।

सुरजेवाला ने अपने पहले 1993 के उपचुनाव का जिक्र करते हुए कहा कि उस समय जब मेरी उम्र 26 साल की थी तब कांग्रेस के पेड़ पर बैठकर ही उस पेड़ को कईयों ने काटने का काम किया था लेकिन पार्टी मां के सामान होती है और जिन्होंने भी मां के साथ गद्दारी की वो दुनिया तो छोड़ गए लेकिन सता में दोबारा नहीं आए। तब हमने फिर 1995 में दोबारा चुनाव लड़ा तो जयप्रकाश और ओमप्रकाश चौटाला को हराकर विधानसभा में गए। आज फिर वही समय आ गया है हम नए सिरे से शुरुआत करेंगे,कांग्रेस की कार्यकारिणी का गठन करेंगे और साल 2004 की तरह कांग्रेस को 67 सीटों से ऊपर लेकर जायेंगे और हरियाणा की चौधर की कपिस्थल की पावन धरा की ग्यारह रुद्री शिव मंदिर पर पताका फहराकर करेंगे।

सुरजेवाला ने कहा कि हर चुनाव एक सीख एक नया तजुर्बा देकर जाता है। जींद विकास की दृष्टी से समस्त हरियाणा करर मुकाबले 40 साल से पिछड़ा है इसलिए उस इलाके को विकास, तरक्की की आवश्यकता है न कि जात पात व धर्म, के विभाजन की। मुख्यमंत्री खट्टर व चौटाला परिवार ने मिलकर जींद में जाति पाति की बिसात बिछाई थी वो एक समय के लिए तो कामयाब हुई है लेकिन जींद के लोगों ने कैथल के विकास के मोडल को देखते हुए कांग्रेस को 23 हजार वोट दिए जो आगे बढ़कर 1 लाख तक जायेंगे क्योंकि जात पात व धर्म का विभाजन किसी का भला नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि कई बार जात पात के आगे विकास हार जाता है लेकिन एक दिन जीत भाईचारे व विकास की होती है और इसी संकल्प के साथ हम मिलकर आगे बढ़ेंगे और जींद, नरवाना,कैथल,करनाल,कुरुक्षेत्र,यमुनानगर तक कांग्रेस पार्टी का झंडा बुलंद करेंगे।

जींद में हुई हार पर जवाब देते हुए सुरजेवाला ने कहा कि मैं कांग्रेस पार्टी का एक कार्यकर्ता हूँ और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुझे आदेश दिया जो मैंने पूरी जिम्मेवारी के साथ निभाया जिस इलाके में कांग्रेस पार्टी की 2 बार जमानत जब्त हो चुकी है व जहां लोकदल का राज रहा वहां पर हम जींद वासियों के प्रेम के साथ 23 हजार वोट लेकर आए व लोकदल पार्टी की जमानत जब्त की। कांग्रेस व मुझे 36 बिरादरी का मान सम्मान मिला लेकिन भाजपा,लोकदल व जजपा मात्र सीमित दायरे में रहे। उन्होंने कहा कि आपके अजीज आपके बेटे का खौफ इस कद्र भाजपा के सिर चदकर बोल रहा है कि जींद चुनाव में हार पर खुद मोदी व अमित शाह को अपने ट्विटर अकाउंट पर, अरुण जेटली व् समस्त मंत्रीमंडल को बजट में जींद चुनाव की चर्चा करनी पडी।

मोदी सरकार द्वारा जारी किए गए बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए सुरजेवाला ने कहा कि 17 रु प्रति किसान को देकर भाजपा ने किसान के साथ धोखा किया है अगर परिवार में तीन सदस्य हैं तो मात्र 3 रु 30 पैसे से किसान का भला कैसे होगा जोकि चाय के आधे कप से भी कम है! किसान के साथ काम करने वाले, भूमिहीन व पटे पर जमीन जोत रहे लोगों को क्या फायदा हुआ है जो मात्र एक जूमला साबित हुआ है।

भारत में बढ़ रही बेरोजगारी पर बोलते हुए सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार ने हर साल युवाओं को 2 करोड़ रोजगार देने का वायदा किया लेकिन मोदी सरकार हर साल केवल अढाई लाख ही रोजगार और खट्टर सरकार मात्र 30 हजार रोजगार दे पाई जोकि देश व प्रदेश के युवाओं के साथ कुठाराघात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *