चुनाव के वक्त ही दिखते हैं राव इंद्रजीत और आरती राव तो, मैं रहता हूं हमेशा लोगों के बीच -राव अर्जुन (राव इंद्रजीत के भतीजे)

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा युवा चैम्पियन राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
हरियाणा में अहीरवाल की राजनीति रेवाड़ी के रामपुरा हाऊस के ईर्द गिर्द घूमती रही है। हरियाणा के दूसरे मुख्यमंत्री राव विरेंद्र सिंह के खानदान के वारिसों ने राजनीति में खूब नाम कमाया है लेकिन 50 साल के हरियाणा के इतिहास में अहीर राजनीति का चरम राव विरेंद्र सिंह ही रहे। फिलहाल राव विरेंद्र सिंह के बेटे राव इंद्रजीत गुड़गांव लोकसभा की राजनीति करते हुए अपना दबदबा बनाए हुए है और उनकी बेटी आरती राव भी राजनीतिक पारी शुरू करने ही वाली हैं।
इस खानदान के एक और युवा जल्द ही चुनावी दंगल में ताल ठोकते नजर आएंगे। राव इंद्रजीत के छोटे भाई राव अजीत सिंह के बेटे राव अर्जुन तैयार हैं 2019 के विधानसभा चुनाव में दो-दो हाथ करने के लिए। Yuva Haryana ने राव अर्जुन से विशेष बातचीत की और उनकी राजनीतिक मंशाओं व योजनाओं के बारे में जाना। पढ़िये कैसे हैं इस युवा चेहरे के विचार और किस स्तर पर है राजनीति में उतरने की उनकी तैयारी।
सवालः अर्जुन जी, सबसे पहले तो यही बताईये कि अभी रणनीति क्या है आपकी ?
जबावः अभी मैं अटेली हल्के से तैयारी कर रहा हूं, और मेरे दादा जी अटेली से ही चुनाव लड़ते थे। इसके अलावा कांग्रेस हाइकमान ने हमें बावल और पटौदी की सीटें भी देने की बात कही है। ये रामपुरा हाउस की सीटें है, ये ऐतिहासिक सीटे हैं और हमारे हिस्से में ये सीटें आई हैं। यहां पर कांग्रेस का कोई केंडिडेट नहीं तो ये सीटें भी हमें ही मिली हुई है।
सवालः आपको क्या लगता है लोकसभा की सीट राव अजीत सिंह को मिल पाएगी, जब कांग्रेस के कुछ और दावेदार नेता भी हैं ?
जबावः देखिये गुड़गांव से कैप्टन साब तैयारी कर रहे हैं कांग्रेस की तरफ से उनके कम ही चांस है, लेकिन हमारी तरफ से पूरी तैयारी है, राव अजीत सिंह को पार्टी ने टिकट देने का पूरा आश्वासन दिया है। वहीं रामपुरा हाउस पर हमारा पूरा होल्ड है, तो टिकट हमें भी मिलेगी।
सवालः एसवाईएल को लेकर आपने हाल ही में अपने ताऊ राव इंद्रजीत पर आरोप लगाया था कि राव इंद्रजीत सिंह ने कभी एसवाईएल के पानी को लेकर जिक्र तक नहीं किया
जबावः बिल्कुल, देखिये उन्होने अब तक एसवाईएल पर कुछ नहीं कहा, ये मुद्दा दोबारा उठाया ही नहीं। देखिये पिछले साल हरियाणा सुप्रीम कोर्ट में एसवाईएल को लेकर केस जीत गया था, उस वक्त पंजाब में भी अकाली-बीजेपी की सरकार थी, हमारे हरियाणा में बीजेपी सरकार थी, और सेंटर में भी बीजेपी सरकार।
लेकिन दक्षिण हरियाणा के हमारे सारे नेता राव इंद्रजीत सिंह, डॉ. बनवारी लाल, रामबिलास शर्मा, संतोष जी अटेली, लेकिन किसी भी नेता ने कभी जिक्र नहीं किया कि एसवाईएल का पानी आना चाहिए।
एसवाईएल को लेकर अब इनेलो आंदोलन कर रही है, लेकिन चुनाव के बाद ये भी भूल जाती है।
इसलिए हम दक्षिण हरियाणा की जनता को गुमराह नहीं करना चाहते, हमें पता है एसवाईएल का पानी तो नहीं आ सकता, लेकिन जिन नहरों में ज्यादा पानी है वहां से हमें पानी दे दो
लेकिन हमारी ये सोच है कि जो हरियामा का सरप्लस पानी है, जो दक्षिण हरियाणा का हक है, वो ही पानी हमें मिल जाए।
जहां पर ज्यादा पानी होता है वहां का पानी हमें देदो
हर साल यमुना का पानी ओवरफ्लो होता है, हांसी बुटाना नहर के जरिये हमारे तक पानी पहुंचाया जा सकता है।
सवालः दक्षिण हरियाणा के लिए आपका कौनसा मुद्दा खास है जो जनता के बीच जाकर आप भुनाना चाहते हैं।
जबावः देखिये दक्षिण हरियाणा का पानी का मुद्दा सबसे बड़ा मुद्दा है, हम एसवाईएल के पानी को लेकर नहीं बल्कि हरियाणा के सरप्लस पानी को लेकर लड़ाई लड़ेंगे। दक्षिण हरियाणा को हरियाणा के जिन इलाकों में सरप्लस पानी है वहीं अगर मिलता है तो दक्षिण हरियाणा में पानी पहुंच सकेगा।
सवालः राव अजीत सिंह अब गुरुग्राम लोकसभा से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन पहले वो कभी सक्रिय राजनीति में नहीं दिखे ?
जबावः देखिये राव अजीत सिंह जी ने 2009 में अटेली से चुनाव लड़ा था, लेकिन 500 वोटों से हार गए थे, उस वक्त मेरे दादा जी का स्वर्गवास हो गया था, तो आखिर के दिनों में घर में ही बैठना पड़ा जिस वजह से वोटर ज्यादा नहीं जुड़ पाए।
सवालः आपको क्या लगता है राव इंद्रजीत सिंह के वोटर भी इस बार आपके साथ जुड़ेंगे ?
जबावः बिल्कुल देखिये , राव इंद्रजीत सिंह ने सिर्फ राव बीरेंद्र सिंह के नाम पर वोट मांगे है, कभी जनता का कुछ भी काम नहीं किया है। वो चार साल तक तो कोठी में रहते हैं, और चुनाव के साल ही जनता के सामने आते हैं, जब लोग इनकी कोठी पर जाते हैं तो बाहर से सिक्योरिटी गार्ड ही उन्हे भगा देते हैं।
सवालः आप युवा है और आप ही ज्यादा सक्रिय है, तो युवाओं को लेकर आपकी क्या रणनीति है ?
जबावः देखिये हमारे रेवाड़ी और गुरुग्राम में दुनियां भर की कंपनियां है लेकिन फिर हमारे लोकल बच्चों को नौकरियां नहीं मिलती, हमारे बच्चों को नौकरियां नहीं मिलती, जबकि दूसरे राज्यों के युवाओं को यहां पर रोजगार नहीं मिल पाता। हमारा मुख्य उदेश्य तो यही रहेगा कि यहां के लोकल युवाओं को रोजगार मिले।
सवालः रेवाड़ी का इलाका शिक्षा के क्षेत्र में आगे है, लेकिन फिर भी इंस्टीट्यूट्स बहुत कम है, शिक्षा के क्षेत्र को आगे बढ़ाने के लिए क्या तैयारी है आपकी ?
जबावः देखिये हमारे रेवाड़ी के आसपास आईटीआई के बहुत कम संस्थान है, हमारी प्रमुखता रहेगी कि रेवाड़ी इलाके में ज्यादा से ज्यादा रोजगार उपलब्ध करवाने वाले संस्थान स्थापित करवाए जाए, ताकि युवा इन संस्थानों से शिक्षा लेकर आपने आसपास ही रोजगार पा सके।
सवालः दक्षिण हरियाणा में पानी की कही है, ऐसे में किसानों के हालात भी बुरे हैं, किसानों को लेकर आपकी तरफ से क्या कुछ किया जा रहा है ?
जबावः देखिये किसान हमारे प्लान में सबसे ऊपर है, सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था के लिए हम हरियाणा के सरप्लस पानी की मांग कर रहे हैं। वहीं किसानों की फसलों को लेकर जो पाबंदियां इस प्रकार ने लगा दी है, उनको भी खत्म कर किसानों को ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचाने का हमारा उद्देश्य रहेगा।
सवालः हरियाणा कांग्रेस में कई गुट बन चुके हैं, ऐसे में क्या राव अजीत सिंह को टिकट मिलना और फिर आपसी गुटबाजी होने की संभावना, इस प्रकार की स्थिति से आप कैसे निपटेंगे ?
जबावः देखिये हमें सीधी हाइकमान से टिकट मिलेगी और ऐसे में किसी प्रकार की गुटबाजी नहीं होगी। वहीं हमारे वोटर मजबूत हैं, राव वीरेंद्र सिंह जी के बाद मेरे पिता और मैंने इस भ्रांति को तोड़ दिया है कि रामपुरा हाउस के लोग कोठियों में ही रहते हैं, हम हमेशा जनता के बीच रहते हैं, हमेशा लोगों के हर सुख दुख में शामिल होते हैं। तो ऐसे में जनता के प्यार से हमारी जीत भी निश्चित है।
सवालः युवाओं को आप साथ में जोड़कर चल रहे हैं, कई युवा आपकी टीम में मौजूद रहते हैं, फिर युवाओं के लिए आपका क्या प्लान है ?
जबावः देखिये हमारे इलाके में खेती का ट्रेंड नहीं है, खेती बिल्कुल बंट चुकी है, पानी भी नहीं है, हम चाहते हैं कि यहां के युवाओं को रोजगार के लिए उनको हक दिलाना जरुरी है। हमारे युवाओं का रोजगार दूसरे लोग ही ले जा रहे हैं, ऐसे में हमारा यही प्लान रहेगा कि यहां की कंपनियों में लोकल युवाओं को रोजगार ज्यादा मिले।
सवालः आपके पिता राव अजीत सिंह गुरुग्राम लोकसभा से तैयारी कर रहे हैं, लेकिन आप कहां से ताल ठोकने की तैयारी कर रहे हैं।
जबावः देखिये मैं पिछले तीन सालों से अटेली विधानसभा में एक्टिव हूं, पिछले कई सालों से रामपुरा हाउस के लोगों की यह भ्रांति रहती है कि राजा खानदान के लोग किसी से मिलते जुलते नहीं है, लेकिन हमने इस गलतफहमी को दूर कर दिया है, मैं लगातार तीन सालों से जनता के बीच हूं, अटेली हलके में ऑफिस भी खुलवा रखा है, किसी को कोई भी समस्या होती है तो मैं हर वक्त तैयार मिलता हूं।
सवालः क्या राव इंद्रजीत सिंह अब आरती राव को आगे ला सकते हैं, चुनाव प्रचार के दौरान वो दिखती है, क्या इस बार चांस है कि आरती राव चुनाव में उतर जाएं ?
जबावः देखिये मेरे हिसाब से तो हमारे परिवार में कोई भी किसी लड़की को चुनाव नहीं लड़वाते, बाकी वो तब ही दिखती है जब चुनाव होते हैं, ऐसे में इस प्रकार से वोट लेना बड़ा मुश्किल है। लोग आज के दिन हर वक्त जनता के बीच चाहते हैं।
सवालः आप अपने ताऊ राव इंद्रजीत सिंह को लेकर काफी हमलावर हैं, कई दिनों से लगातार आरोप लगा रहे हैं, ऐसी क्या वजह है कि अब राव इंद्रजीत अचानक आपके निशाने पर आ गए हैं।
जबावः देखिये राव इंद्रजीत सिंह साढे चार साल तक तो अपनी कोठी में दिल्ली में रहते हैं, इस दौरान कोई उनसे मिलने जाता है तो वो मिलते नहीं है। साढे चार साल बाद वो अचानक से बाहर निकलकर आते हैं और कहते हैं कोई मेरी सुनता ही नहीं है मैं काम कैसे करवाऊं, पहले वो कहते थे हुड्डा नहीं सुनता, फिर अब कहते हैं खट्टर मेरी नहीं सुनता। इसलिए अब हमने मन बना लिया है कि इस प्रकार के बहानेबाजी से भले हम खुद ही चुनाव में उतरें और दक्षिण हरियाणा के विकास के लिए खुद लड़ाई लड़े। मैंने तो उनके बारे में ये भी कहा है कि आप बीजेपी को क्यों दोष दे रहे हो, पहले आप बताओ आपने अपने इलाके के लिए क्या किया है। आपने कौनसी बड़ी घोषणा की थी और कौनसा प्रोजेक्ट पूरा किया है। आपने तो सिर्फ कवि सम्मेलनों में हिस्सा लिया है या फिर किसी गांव में बने मुख्य द्वार का उद्घाटन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *