राव इंद्रजीत का कल दोंगड़ा में शक्ति प्रदर्शन, राव समर्थकों के पोस्टरों से बीजेपी गायब

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत संपादकीय हरियाणा

Rajeev Sultania, Scripted By Sahab Ram, Yuva Haryana
Kanina, 5 May, 2018

कल महेंदग्रढ़ के दोंगड़ा अहीर गांव में दक्षिण हरियाणा की राजनीति को लेकर बड़ा शक्ति प्रदर्शन होने जा रहा है. गुरुग्राम से बीजेपी सांसद और केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह की दोंगड़ा अहीर गांव में रैली है।

इस रैली को लेकर बड़े जोर-शोर से तैयारियां चल रही है. पिछले चार दिनों से मजदूर टैंट लगाने में जुटे हुए हैं, माना जा रहा है कि यहां पर बड़े स्तर की जनसभा का आयोजन किया जाएगा।

यहां पर पुलिस ने भी पुख्ता इंतजाम किये हुए है. पुलिस की महिला और पुरुष टीम भी यहां पर पहुंच चुकी है।

राव इंद्रजीत के समर्थकों की तरफ से लगे पोस्टरों में बीजेपी गायब है, यहां पर बीजेपी के किसी भी नेता का पोस्टर में नाम तक नहीं है, वहीं भिवानी महेंद्रगढ़ से बीजेपी सांसद धर्मबीर सिंह का भी पोस्टर लगा है लेकिन उसमें भी बीजेपी के किसी वरिष्ठ नेता का नाम नहीं है।

राजनैतिक पंडितों के अनुसार राव इंद्रजीत सिंह अहीरवाल क्षेत्र में अपना यह शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं और वो यहां पर लोगों की नब्ज टटोलना चाहते हैं।

बताया ये भी जा रहा है कि जिस हलके में रैली हो रही है वहां से स्थानीय विधायक भी रैली में नहीं पहुंच रही हैं।

हालांकि राव इंद्रजीत सिंह के राजनैतिक करियर को लेकर भी राजनीतिक पंडित अलग-अलग आंकलन कर रहे हैं. चर्चाओं का बाजार काफी गर्म हो चुका है. पिछले पांच-छह दिनों से राव इंद्रजीत सिंह को लेकर काफी चर्चाएं हो रही है।

पिछले करीब 40 सालों से सक्रिय राजनीति में रहे राव इंद्रजीत सिंह यहां पर अपना शक्ति प्रदर्शन करने की तैयारी कर रहे हैं. अहीरवाल क्षेत्र में अपने इलाके के सीएम की भी लंबे समय से मांग उठती रही है।

चुनाव के दौरान अहीरवाल क्षेत्र में भी किसी ना किसी नेता को सीएम कैंडिडेट की तरह आगे करके वोट भी मांगे जाते हैं, लेकिन बाद में उनको निराशा ही हाथ लगती है।

 

लेकिन इस बार राजनीति में ऊंट किस करवट बैठेगा इसको लेकर चर्चाओं और अफवाहों का बाजार कुछ ज्यादा ही गर्म हो चुका है। क्योंकि अब ज्यादा समय नहीं बचा है चुनाव में ।

अक्सर राजनीति में चुनाव से एक साल  या 7-8 महीने पहले से ही नेताओं का रुझान बनना शुरु हो जाता है. उनके मूड का भी जनता के बीच जाने पर पता लगने लग जाता है।

बताया ये भी जा रहा है कि राव इंद्रजीत सिंह बीजेपी से सांसद हैं, केंद्रीय राज्यमंत्री भी हैं, लेकिन यहां पर लगे कुछ पोस्टरों में बीजेपी का नाम नहीं है ऐसे में संकेत कहीं और ही जा रहे हैं।

इधर चर्चाओं के बीच नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने भी कहा कि अगर राव इंद्रजीत सिंह पार्टी में आना चाहते हैं तो उनका स्वागत हैं।

बता दें कि राव इंद्रजीत सिंह इससे पहले कांग्रेस की तरफ से गुड़गांव से सांसद थे, जिसके बाद वो पार्टी छोड़ गए और उन्होने बीजेपी ज्वाइन की थी।

वो बीजेपी के कमल के निशान पर भी चुनाव जीत गए थे।

उनकी बेटी आरती राव भी पिछले कई सालों से सक्रिय राजनीति में हैं, उनकी बेटी इंसाफ मंच को चलाती है, साथ ही अपने पिता का भी हाथ बंटाती है।

राव इंद्रजीत सिंह का राजनीतिक सफर

राव इंद्रजीत सिंह पहली बार 1977 में विधायक बने थे, इसके बाद भी वो तीन बार विधायक रहें।
1982-87 तक वो हरियाणा सरकार में मंत्री भी रहे।

1998 में वो महेंद्रगढ़ लोकसभा में सांसद चुने गए

2004 में वो महेंद्रगढ़ लोकसभा में सांसद चुने गए

2009 में वो गुड़गांव लोकसभा में कांग्रेस की तरफ से सांसद चुने गए

2014 में वो गुड़गांव लोकसभा से बीजेपी की तरफ से सांसद बने

1991 से 1996 तक कैबिनेट में पर्यावरण, वन, चिकित्सा और तकनीकी शिक्षा मंत्री भी रहे।

2004-2006 तक वो केंद्रीय विदेश मामले के राज्यमंत्री के तौर पर रहे।

2009 तक उन्होने संसदीय सूचना प्रौद्योगिकी समिति की अध्यक्षता की।

2014 में नरेंद्र मोदी सरकार में केद्रीय रक्षा राज्यमंत्री बने।

बताया जा रहा है  कि रैली में शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा, जन स्वास्थ्यमंत्री बनवारी लाल, पूर्व मंत्री एवं कोसली से विधायक बिक्रम यादव, नांगल चौधरी से विधायक अभय सिंह, नारनौल से विधायक ओमप्रकाश यादव और अन्य कई विधायक भी मौजूद रहेंगे।

इस रैली में पहुंचने के लिए अलग-अलग प्रकार से टैंट की व्यवस्था की गई है, टैंट भी भव्य लगाया जा रहा है और यहां पर वीआईपी लोगों के पहुंचने का भी दावा किया जा रहा है।

 

Read This News Also>>>>