हुड्डा राज में सिर्फ वोटों के लिए निकलते थे हाइवे, कांग्रेस की अधूरी छोड़ी सड़कों को भाजपा सरकार करवा रही है पूरा -राव नरबीर सिंह

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा

लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि पूर्व कांग्रेस शासन के दौरान नेशनल हाइवे निर्माण का मकसद केवल चुनावी लाभ लेना था, इसलिए उन्होंने इन प्रोजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण के विवादों का समाधान किए बिना ही शिलान्यास करवा दिए। नरबीर सिंह ने कहा कि अब मुख्यमंत्री नेशनल हाइवे का जाल बिछाने पर गंभीरता से काम किया जा रहा है तो कांग्रेसी सांसद दीपेंद्र हुड्डा अपने शासन की नाकामी छिपाने की कोशिश कर रहे हैं।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के सचिव युद्धवीर मलिक से सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा मुलाकात किए जाने को लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने 10 साल की नाकामी छिपाने की कोशिश करार दिया। उन्होंने कहा कि बीते साढे तीन साल के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल का फोकस प्रदेश के अधर में लटके प्रोजेक्ट पूरा कराने तथा नए प्रोजेक्ट पर काम शुरू कराने का रहा है, जबकि कांग्रेसी सांसद अपने मुख्यमंत्री पिता की गलतियों के कारण प्रोजेक्ट में देरी होने पर माफी मांगने की बजाय झूठी वाहवाही लूटने का प्रयास कर रहे हैं। राव रनबीर ने कहा कि कांग्रेस सरकार की सुस्ती को छिपाने के लिए झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं।

उन्होंने कांग्रेस की लापरवाही के उदाहरण गिनाते हुए बताया कि केएमपी और केजीपी का 10 साल से लटका काम और मुकरबा चौक से पानीपत तक नेशनल हाइवे-1 को 12 लेन किए जाने का काम न केवल अटका, अपितु देरी के कारण इसके बजट में भी भारी वृद्धि हुई। यही नहीं, नेशनल हाइवे-1 पर जगह-जगह अधूरे पडे फ्लाईओवर और अंडरपास का काम वर्तमान सरकार के दौरान ही तेजी से करवाया गया है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान 31 मार्च 2012 को पंजाब बार्डर से जींद तक की सड़क को फोरलेन करने का तत्कालीन केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी से शिलान्यास करवाया गया। इस सेक्शन के निर्माण के लिए जिस एजेंसी को ठेका दिया गया, उसने दो साल तक कोई काम नहीं किया और वर्ष 2014 में हाथ खडे कर दिए। इसके बाद मंत्रालय द्वारा प्रोजेक्ट को बंद कर दिया गया। लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल के हस्तक्षेप के बाद इस सेक्शन का काम दुबारा शुरू हुआ है और वर्तमान टेंडर के अनुसार निर्धारित अवधि में पूरा कर लिया जाएगा।

इसी प्रकार रोहतक-जींद को नेशनल हाइवे 71 का दर्जा देकर फोर लेन बनाने का काम वर्ष 2013 में शुरू किया गया। तत्कालीन एजेंसी द्वारा भी अपना काम करने में कोताही बरती गई तो एनएचएआई द्वारा वर्ष 2015 में ठेका रद्द करने का नोटिस थमा दिया गया। एजेंसी दिल्ली हाई कोर्ट चली गई। प्रोजेक्ट में हो रही देरी से आमजन की बढ रही परेशानी पर मुख्यमंत्री ने संज्ञान लिया तथा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ मामले को उठाया। इसके बाद पूरे विवाद को निपटाते हुए अब प्रोजेक्ट का काम आबंटित करने के लिए निविदा आमंत्रित की जा चुकी हैं।

उन्होंने कहा कि खेवड़ा से वाया सोनीपत, सांपला, झज्जर, दादरी से लोहारू तक नेशनल हाइवे 334 बी के निर्माण की मंजूरी वर्तमान केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की गई थी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट शीघ्र तैयार कराने के अनुरोध को परिवहन मंत्रालय द्वारा स्वीकार किया गया और वर्तमान में उत्तर प्रदेश-हरियाणा सीमा से झज्जर तक इस मार्ग के फोरलेन तथा झज्जर से लोहारू तक 10 मीटर बनाया जाना तय हुआ है, क्योंकि फोनलेन के लिए तय मापदंड के अनुसार इस सेक्शन में वाहनों का आवागमन वर्तमान में नहीं है।

उन्होंने कहा कि जिस जींद-गोहाना-सोनीपत नेशनल हाइवे को मंजूर कराने की बात सांसद दीपेंद्र हुड्डा कर रहे हैं, उसकी मंजूरी 9 अप्रैल 2015 को वर्तमान सरकार के दौरान दी गई और इस प्रोजेक्ट की डीपीआर तैयार करने के लिए एजेंसी भी अलाट की जा चुकी है।

लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि नादर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे (द्वारका एक्सप्रेसवे) के निर्माण से पहले कांग्रेस सरकार द्वारा जमीन अधिग्रहण से जुडे मसलों का समाधान नहीं किया गया, जिसकी बदौलत प्रोजेक्ट अधूरा रहा और निर्धारित राशि भी खर्च हो गई। इसके समाधान में वर्तमान सरकार द्वारा न केवल हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण से जुडे मसलों का समाधान निकाला गया, अपितु मुख्यमंत्री के अनुरोध के बाद एनएचएआई ने इसे टेकओवर कर लिया और वर्तमान में एनएचएआई इस एलिवेटिड एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट को विश्व स्तरीय मापदंड पर तैयार कर रहा है।

राव नरबीर सिंह ने कहा कि प्रदेश के नेशनल हाइवे 10, नेशनल हाइवे 65, नेशनल हाइवे 71 पर कई स्थानों पर अंडरपास की जरूरत को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने निजी तौर पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ सांझा करते हुए आगे बढ़ाया। इसके बाद एनएचएआई द्वारा इन अंडरपास को बनवाने के लिए कंसल्टेंट नियुक्त किए गए और जल्द ही इन पर काम होगा।

लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि कांग्रेस उन प्रोजेक्ट पर भी खुद का दावा कर रही है, जो उनकी राजनीतिक बयानबाजी से भी बाहर नहीं निकले और वर्तमान केंद्र और प्रदेश सरकार ने आमजन की जरूरत को महसूस करते हुए उन पर काम किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेसियों ने सत्ता के अंतिम दिनों में जानबूझ कर बिना तैयारी के बडे प्रोजेक्ट केवल राजनीतिक लाभ लेने के लिए शुरू किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *