गुरुग्राम में दरिंदगी, 3 साल की मासूम का रेप कर उतारा बेरहमी से मौत के घाट

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Manu Mehta, Yuva Haryana

Gurugram, 13 Nov, 2018

तीन साल की मासूम जिसने ठीक से जिंदगी को ना समझा था और ना ही देखा था। लेकिन उसे क्या पता था जिस दुनिया के सुनहरे ख्वाब को उसके लड़कपन ने अभी महसूस ही करना शुरू किया था, उसी दुनिया का एक एेसा घिनौना और दरिंदगी भरा चेहरा उसकी मासूमियत को ही रौंद जाएगा।

गुरुग्राम में अपने परिवार के साथ रह रही 3 साल की मासूम परी जैसी बच्ची के साथ पड़ोस में रहने वाले सुनील नाम के हैवान ने दरिंदगी की ऐसी सीमा लांधी की सुनने वालों के होश ही उड़ गए । 11 नवबंर को सुनील ने 3 साल की मासूम का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया। जब बच्ची ने दर्द से चीखने की कोशिश की तो, भारी पत्थर मासूम के सिर में दे मारकर उसे मौत के गाट उतार दिया।

ये दरिंदा यही नहीं रूका, इस दरिंदे को जरा भी बच्ची पर रहम नही आया। इसने बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स में लकड़ी डाल कर तोड़ दी। पुलिस ने परिवार के बयान पर सुनील के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 और 6 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला तो दर्ज कर लिए है, लेकिन परी जैसी मासूम बच्ची का गुनेहगार अभी भी खुली हवा में सांस ले रहा है ।

आपको बता दे की साइबर सिटी में इस तरह के यह पहला मामला नहीं है। जब इस कदर दुष्कर्म के बाद मासूम की हत्या की गई हो। बल्कि 2013 में सिकंदरपुर में मासूम के साथ दुष्कर्म कर उसे सड़क पर फेंका गया जिसकी कई सर्जरी के बाद भी मासूम पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाई थी। फिर चाहे में सोहना रोड ओमेक्स मॉल के पीछे मासूम के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या हो या फिर राजीव चौक पर हुई दुष्कर्म के बाद हत्या मामला हो।

गुरुग्राम पुलिस ऐसे दर्जन भर मामलो में वारदात में शामिल हैवानों का सुराग तक लगा पाने में असफल रही है। ऐसे में कई गंभीर सवाल भी गुरुग्राम पुलिस की कार्यशैली पर जरूर खड़े होते हैं।

साइबर सिटी गुरुग्राम को हिला देने वाली इस वारदात के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए 6 टीमों का गठन किया है। जो अलग- अलग इलाकों में छापेमारी कर रही है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *