हरियाणा समेत चार राज्यों को मिलेगी रैपिड रेल, NCRTC बोर्ड ने दी मंजूरी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Delhi, 08 Dec, 2018

NCRTC बोर्ड ने रैपिड रेल के दूसरे कॉरिडोर को मंजूरी दे दी है। जिस पर 160 किमी की अधिकतम और 100 किमी की औसत स्पीड वाली रैपिड रेल की सवारी सिर्फ दो रुपये प्रति किलोमीटर खर्च पर मिलेगी। डीपीआर में जो प्रोजेक्टेड किराया दिया गया है वहा औसतन 2 रुपये से सवा दो रुपये के बीच है जबकि दिल्ली मैट्रो का शुरुआती 12 किलोमीटर तक औसत किराया ढाई रुपये से पांच रुपये के बीच है। वही वहीं 12-21 किमी तक यात्रा करने पर सोमवार से शनिवार तक 40 रुपये चुकाने होते हैं।

प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली सरकार से अभी मंजूरी नहीं मिली है। दिल्ली सरकार से मंजूरी मिलने के बाद दिल्ली से मेरठ, अलवर या पानीपत के ये स्पीड वाली सवारी दिल्ली वालों को मिल पाएगी। उनके मुताबिक दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, यूपी सरकार के मुख्य सचिवों की सदस्यता और केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय सचिव की अध्यक्षता वाली एनसीआरटीसी बोर्ड ने डीपीआर को मंजूरी दे दी है, लेकिन काम तभी शुरु होगा जब दिल्ली, हरियाणा और केंद्र सरकार से प्रोजेक्ट को मंजूरी मिलेगी।

दिल्ली सरकार में 9 दिसंबर, 2016 से दिल्ली-मेरठ कॉरिडोर का डीपीआर मंजूरी के लिए पड़ा है। लेकिन कभी फंड की कमी और स्टेशन एलिवेटेड करने की आपत्ति के कारण मंजूरी नहीं मिल सकती है। निर्माण पर महंगाई दर के हिसाब से सालाना 4-5 फीसदी राशि बढ़ने का अनुमान डीपीआर में दिया गया है।

एनसीआरटीसी ने बेशक रैपिड रेल के दूसरे कॉरिडोर को बोर्ड में मंजूरी दे दी है लेकिन अभी दिल्ली सरकार ने दिल्ली-मेरठ के पहले कॉरिडोर को भी मंजूरी नहीं दी है। मुख्यमंत्री ने फंड की किल्लत बताई है और परिवहन मंत्री ने सराय काले खां स्टेशन एलिवेटेड करने पर ही आपत्ति दर्ज करा दी है। ऐसे में केंद्र और राज्य सरकार के बीच विवाद सुलझाए बिना रैपिड रेल का स्पीड पकड़ना दिल्ली में काफी कठिन है।

 

 क्या रहेगी खासियतें ?

  1. इसमें लेडीज स्पेशल और बिजनेस क्लास कोच रिजर्व होंगे। बिजनेस क्लास के कोच का किराया अधिक रखा जाएगा। रैपिड रेल 3 कोच के सेट में चलेगी जिसे अधिकतम 9 कोच तक बढ़ाया जा सकेगा। सामान के लिए भी एयरपोर्ट मेट्रो की तरह अलग से कोच में जगह होगी।

 

  1. रैपिड रेल से एनसीआर के यूपी, हरियाणा और राजस्थान के शहरों में जाने के लिए स्टेशन पर ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। हर 5-10 मिनट में रैपिड रेल दिल्ली से मेरठ, अलवर और पानीपत के रूट के लिए आएगी और जाएगी। जब तीनो कॉरिडोर बन जाएंगे तो एक ही ट्रेन में सवार होकर यूपी, दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान के शहरो में स्टेशन वाले शहरों में पहुंच सकेंगे।

 

  1. गुड़गांव में उद्योग विहार स्टेशन पर रैपिड मेट्रो, प्रस्तावित मेट्रो स्टेशन से गुड़गांव रेलवे स्टेशन को जोड़ा जाएगा। खड़की दौला स्टेशन पर प्रस्तावित बावल मेट्रो स्टेशन और प्रस्तावित बस टर्मिनल, पंचगांव में प्रस्तावित मल्टी बॉडल हब और बावल स्टेशन पर बावल बस स्टैंड से इंटरचेंज की सुविधा होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *