किसान के बेटे रवि वत्स फिलीपींस प्रोफ़ेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में लेंगे हिस्सा

Breaking खेल चर्चा में देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

भारत के खिलाड़ी अपना नाम अपने देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी रोशन करते आ रहे हैं। ऐसे ही मुकाम को साबित करने के लिए चंडीगढ़ के मुक्केबाज रवि वत्स अक्टूबर में फिल्लीपीन्स में हो रहे प्रोफेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भाग लेते दिखेंगे।

बॉक्सर रवि हरियाणा के जींद जिले के गांव गांगोली से संबंध रखते हैं। पिता कृष्णचंद्र पेशे से किसान है। चार भाई बहनों में रवि सबसे बड़ा है। आर्थिक तंगी के कारण प्राइवेट नौकरी भी करनी पड़ी, लेकिन बॉक्सिंग के लगाव के कारण इन्होंने नौकरी छोड़ फिर से बॉक्सिंग पर ध्यान देना शुरू किया।

26 साल के रवि अभी तक देशभर में हुई विभिन्न स्टेट और नेशनल स्तर की बॉक्सिंग चैंपियनशिप में 20 से अधिक मेडल जीत चुके हैं। जिंदगी में मुश्किल हालात से निकलकर रवि ने खुद को इंटरनेशनल प्रतियोगिता के लिए तैयार किया है। 2013 के बाद लगातार कई प्रतियोगिताओं में गोल्ड जीतने के बाद रवि ने प्रोफेशनल बॉक्सिंग में जाने के लिए तैयार किया । रवि बताते हैं कि उनका भी सपना है कि वह बॉक्सर विजेंद्र सिंह की तरह इंटरनेशनल स्तर पर बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीते।

रवि ने अभी तक सीनियर नेशनल लेवल तक की प्रतियोगिता में 20 से अधिक मेडल जीते हैं। उनमें 12 गोल्ड मेडल शामिल हैं। ऑल इंडिया इंटर साई 2014, सेंट्रल जोन चैंपियनशिप, यूपी सीनियर स्टेट चैंपियनशिप, पूर्वांचल यूनिवर्सिटी और लखनऊ में आयोजित बॉक्सिंग चैंपियनशिप जैसी विभिन्न प्रतियोगिताओं में गोल्ड मेडल जीते हैं। बॉक्सिंग में कॅरियर बनाने के लिए जब चंडीगढ़ आए तो हालात ऐसे भी आए कि इन्हें पीजीआई गेट के सामने लगने वाले लंगर से कई दिन गुजारा करना पड़ा।

कड़ी मेहनत से इवेंट जीते तो कुछ प्राइवेट असाइनमेंट के बाद आर्थिक हालात बेहतर होते गए। नया गांव स्थित द बॉक्सिंग एकेडमी में रवि आजकल इस साल होने वाली प्रोफेशनल बॉक्सिंग की तैयारी कर रहे हैं। रवि का कहना है की एकेडमी में 30 से अधिक स्कूल और कॉलेज के बच्चों को भी बॉक्सिंग सीखाते हैं। उनके पास 8-9 लड़कियां भी बॉक्सिंग सीख रही हैं।

कई गरीब बच्चों को निशुल्क बॉक्सिंग की ट्रेनिंग दे रहे हैं। साथ ही रवि ने चर्चित पंजाबी गायक परमिश वर्मा के साथ भी काम किया है, इसी के चलते उनके पास फिल्म के भी ऑफर है लेकिन वह सिर्फ बॉक्सिंग में ही अपना करियर बनाना चाहते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *