हरियाणा में कोरोना की जंग लड़ रहे डॉक्टरों और कर्मियों के लिए बड़ा ऐलान, जानिए

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh 

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कोराेना के खिलाफ जंग लड़ने में लाेगों से सहयोग करने की अपील की है। उन्‍होंने कहा कि कोराेना को हराने के लिए जरूरी है कि सभी लोग ऑकडाउन का पूरी तरह पालन करें। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने किराना व्यापारियों के लिए कोविड हरियाणा ई-वेबसाइट लांच की। उन्‍होंने कहा कि कोरोना हरियाणा से हारेगा और भारत से भागेगा। उन्‍होंने ऑनलाइन से बिजली बिल जमा करने पर दो प्रतिशत की घोषणा की। इसके साथ उन्‍होंने कहा कि हालात सामान्‍य होने पर किसानों की पूरी फसल खरीदी जाएगी। खरीद में देरी होने पर किसानों के जिए इनसेंटिव योजना लाई जाएगी।

मुख्‍यमंत्री ने जनता को वीडियो काॅ‍न्‍फ्रेसिंग के जरिेये संदेश दिया। उन्‍होंने कहा कि वॉलियंटरों को ई-पास दिए जाएंगे इसके लिए वॉलियंटर जिला प्रशासन पर रजिस्ट्रेशन करवाएं, उन्हें ई-पास मिलेंगे। सीएम ने जनता से घरों में रहने की अपील की। उन्‍होेंने कहा कि हर चीज घर पहुंचाने के लिए व्यवस्था की गई है।

उन्‍होंने कहा कि बैंकों में पैसा जमा करने की तिथि बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखा है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि काेराेना को लेकर कोई हादसा होने पर आइसोलेशन वार्ड या टेस्टिंग लैब में काम करने वाले डॉक्टर को 50, नर्स को 30, अन्य के लिए 20 लाख रुपये दिए जाएंगे। यह पहले ये राशि 10 लाख रुपये थी। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में अभी कोराेना की टेस्टिंग के लिए पांच लैब हैं और इनकी संख्‍यस बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना के केसों के लिए प्रदेश के अस्‍पतालों में 2500 बेडों की विशेष व्यवस्था की जा चुकी है।

मुख्‍यमंत्री मनोहालाल ने काेराेना के लिए हरियाणा में दो हेल्पलाइन नंबर 1100 और 1075 जारी किए। इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि बिजली विभाग ने अपने सभी कैश काउंटर को बंद कर दिया गया है। सामान्य हालात होने पर ही कैश काउंटर खुलेंगे। उन्‍होेंने कहा कि ऑनलाइन बिजली बिल पर 1000 रुपये के बिल में दो प्रतिशत की छूट मिलेगी।

उन्‍होंने कहा कि गरीबों को भोजन पहुंचाने के लिए 5700 लोगों ने  सहायता के लिए ऑफर दिया। मुख्‍यमंत्री ने किसान बिल्कुल परेशान न हों। सरकार फसल का एक-एक दाना खरीदेगी। हो सकता है इसमें थोड़ी देर हो जाए, लेकिन पूरी फसल की खरीद होगी।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि किसान किसी भी तरह से परेशान न हों। अगर सभी स्थिति सामान्य रहती हैं तो 15 अप्रैल से सरसों की और इसके बाद गेहूं की फसल खरीदने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 20 अप्रैल से गेंहू की खरीद शुरू होगी। तब तक फसलो को अपने घरों में स्टोर करें। जितने दिन फसल खरीदने में देरी होगी उसके हिसाब से किसानों के लिए इनसेंटिव योजना लाई जाएगी। मार्केटिंग बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दे रहे हैं कि वे किसानों की फसल रखवाने के लिए व्यवस्था करें। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि किसानों के ऋण पर ब्याज की माफी भी करवाने के लिए हम केंद्र सरकार को लिख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *