जमीन हथियाने के लिये अपहरण के बाद कर दी थी युवक की हत्या, प्रेमी-प्रेमिका गिरफ्तार

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Rewari, 22 Feb,2019

रेवाड़ी के कृष्णा नगर से दस दिन पहले लापता हुए युवक के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। दरअसल लापता हुए युवक का अपहरण कर उसकी गला दबाकर हत्या की गई थी। पुलिस ने इस मामले में एक प्रेमी-प्रेमिका को गिरफ्तार किया है।

आरोपी जोनावास निवासी सुनील और राजस्थान के अलवर के गांव टोडरपुर की ढाणी निवासी मनीषा ने ही अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर युवक का पहले अपहरण किया था। उसके बाद राजस्थान ले जाकर गला दबाकर हत्या कर दी थी। सबूत मिटाने के लिये आरोपियों ने शव को राजस्थान में ही रेलवे लाइन पर डाल दिया।

पुलिस के अनुसार कृष्णा नगर से लुहाना निवासी रूपेश अपनी एक प्रेमिका के साथ कृष्णा नगर में किराए के मकान में रहता था। छह फरवरी को वह अचानक लापता हो गया था।  11 फरवरी को रूपेश की मां संतोष ने उसके गायब होने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई थी।

पुलिस ने शुरूआती जांच में रूपेश की प्रेमिका से पूछताछ की तो उसने बताया कि छह फरवरी की रात करीब साढे़ नौ बजे उसकी सहेली आनंद नगर निवासी मनीषा उसके कमरे पर आई थी। आरोपी मनीषा ने घटना वाली रात रूपेश को यह कहते बीयर लेने भेज दिया कि उसका, उसके प्रेमी सुनील के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया है। सुनील मनीषा का प्रेमी है। रूपेश मनीषा की स्कूटी पर बीयर लेकर वापस आ गया। कुछ देर बाद ही मनीषा ने रूपेश को अंडे लाने का बहाना बनाकर फिर से बाहर भेज दिया। उसके बाद रूपेश अपने कमरे पर नहीं लौटा।

ये सब एक साजिश के तहत किया था, ये पूरी साजिश मनीषा ने ही अपने प्रेमी सुनील, अपने भाई किस्मत तथा उसके एक अन्य साथी के साथ मिलकर रची थी। जैसे ही रुपेश अंड़े लेने के लिए बाहर आया, उसी समय सुनील, किस्मत व विक्रम ने मिलकर रूपेश अपहरण कर लिया। आरोपी रूपेश को गाड़ी में डालकर राजस्थान के अलवर जिले के गांव गिरीयावास के नजदीक ले गये। वहां आरोपियों ने गाड़ी के अंदर ही हाथों और एक वायर से रूपेश का गला दबाकर हत्या कर दी। उसके बाद आरोपियों ने सबूत मिटाने के लिए रूपेश के शव को पास में ही रेलवे लाइन पर डाल दिया और ट्रेन आने का इंतजार करते रहे। ट्रेन द्वारा शव कट जाने के बाद आरोपी वहां से फरार हो गये।

पांच दिन तक रूपेश का सुराग नहीं लगा तो प्रेमिका ने इसकी जानकारी रूपेश की मां को दी। 11 फरवरी को रूपेश की मां ने माडल टाउन थाना में शिकायत दर्ज कराई थी।

पूछताछ में खुलासा हुआ कि घटना की रात से एक दिन पहले 5 फरवरी को आरोपी सुनील, मनीषा मृतक रूपेश कि प्रेमिका की गांव गंगायचा जाट में नौ कनाल जमीन को देखने के लिये गये थे। मनीषा और सुनील इस जमीन को हथियाने चाहते थे। लेकिन रूपेश ने मौके पर ही जमीन बेचने से अपनी प्रेमिका को मना कर दिया था। इसी बात की रंजिश और जमीन हथियाने के रास्ते में रोड़ा बना रूपेश को रास्ते से हटाने के लिये हत्या की साजिश रची थी और अगले ही दिन रूपेश का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी गई थी।

आरोपी मनीषा पर 2017 में अपने पति की हत्या करवाने के मामले में जेल जा चुकी है। हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी अभी जेल में बंद है और आरोपी मनीषा जमानत पर जेल से बाहर आई हुई है।

अब पुलिस ने आरोपी सुनील व मनीषा को देर शाम भाड़ावास रोड स्थित अनाज मंडी के निकट से गिरफ्तार किया है। वारदात में शामिल अन्य आरोपियों को दबोचने के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है उन्हें भी जल्द काबू कर लिया जाएगा। गिरफ्तार दोनो आरोपियों को अदालत में पेश कर चार दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *