प्रदेश में हुआ 300 करोड़ का चावल घोटाला, 21 राइस मिलर्स समेत अधिकारी भी शामिल

Breaking सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva Haryana

Karnal (27 March 2018)

हरियाणा में करीब 300 करोड़ रुपये के चावल घोटाले का खुलासा हुआ है। अफसरों के साथ मिल कर राइस मिलर्स ने यह घोटाला किया है। जिसके  बाद सरकार ने 21 राइस मिलर्स के खिलाफ FIR दर्ज कराई है। इसके अलावा घोटाले में शामिल रहे जिला खाद्य व आपूर्ति नियंत्रकों, अफसरों और निरीक्षकों को नियम 7 के तहत बर्खास्त करने की तैयारी में है।

वहीं चावल घोटाले के सामने आने के बाद सरकार ने उपायुक्तों को खुद राइस मिलों में जाकर भौतिक जांच करने के निर्देश दिए हैं। चावल कम मिलने पर दोषी राइस मिलों के खिलाफ अनुबंध की शर्तों के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अभी तक कुल 21 राइस मिलर्स के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है।

बता दें कि छापामारी में करनाल की तरावड़ी मंडी स्थित मैसर्ज फोर फ्रेश राइस मिल में धान ही नहीं मिला तो मिल के 9 लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है। FIR में मिल मालिक के अलावा गारंटर पर भी FIR दर्ज हुई है।

बता दें कि धान का सीजन अक्टूबर तक चलता है। सीजन के दौरान ही राइस मिलर्स को पैडी आवंटित की जाती है। इसकी मिलिंग कर चावल 31 मार्च तक वापस देना होता है। जिन राइस मिलर्स ने साल 2013-14, 2014-15 तथा 2015-16 के दौरान  विभाग को चावल नहीं दिया, अब उनके खिलाफ भी मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। पहले साल के लिए करनाल के 13 राइस मिलर्स और साल 2015-16 के दौरान कुरुक्षेत्र के तीन डिफाल्टर राइस मिलर्स पर मुकदमा दर्ज कराया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *