रावण दहन को लेकर कोर्ट में दायर की गई याचिका, पुतलों का दहन होगा या नहीं, संशय बरकरार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Bhiwani, 17 Oct, 2018
दशहरे के मौके पर भिवानी में रावण दहन को लेकर इस बार खींचतान शुरु हो गई है। भिवानी में बार के वकीलों ने कोर्ट में याचिका दायर की है जिसमें रावण के जलाने को लेकर विरोध जताया गया है। इस याचिका को सिविल कोर्ट ने मंजूर कर लिया है और आयोजकों को नोटिस जारी किया है। इस मामले में अब 18 अक्टूबर को सुनवाई होगी।
भिवानी बार के वकीलों ने हर साल दशहरे के मौके पर जलाए जाने वाले रावण और कुंभकर्ण के पुतलों के जलाने से होने वाले प्रदूषण को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। वकीलों के मुताबिक हर साल पुतले का साइज बढ़ाया जा रहा है जिस वजह से यहां पर ध्वनि और वायु प्रदूषण बढ़ रहा है।
भिवानी के सिविल कोर्ट में 12 वकीलों ने रावण दहन को लेकर याचिका दाखिल की है।  जिसको लेकर कोर्ट ने आयोजकों को नोटिस जारी कर जबाव मांगा है। याचिका में कहा  गया है कि हर साल रावण और कुंभकर्ण के पुतलों को बड़ा किया जा रहा है और बढ़ने वाले प्रदूषण को नजरादांज किया जा रहा है।
वकीलों के मुताबिक दशहरे के त्यौहार प्रतीकात्मक तरीके से भी मनाया जा सकता है लेकिन जिस प्रकार से ध्वनि और वायु प्रदूषण को बढ़ावा दिया जा रहा है और बच्चों और बूढों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। वो गलत है। एडवोकेट सत्यजीत पिलानिया ने बताया कि पिछले साल इतना ज्यादा प्रदूषण बढ़ गया था कि स्कूलों को भी बच्चों की छुट्टियां करनी पड़ी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *